थाईलैंड: गुफा से बाहर निकाले गये 4 बच्चे, 9 को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

 थाईलैंड: गुफा से टीम के 4 खिलाडियों को बाहर निकाला गया, 9 को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

16 दिन से थाम लुआंग गुफा में फंसे जूनियर फुटबॉल टीम के चार खिलाड़ी 12 घंटे के अभियान के बाद रविवार को सुरक्षित निकाल लिए गए. इस काम को 18 गोताखोरों ने अंजाम दिया. बच्चों को अभी अस्पताल में रखा गया है. रात होने पर ऑपरेशन रोक दिया गया। टीम के 8 खिलाड़ी और कोच को बाहर लाने के लिए सोमवार को ऑपरेशन जारी है. इनकी लोकेशन पटाया बीच के करीब है. थाईलैंड के अलावा अमेरिका, चीन, जापान, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के 90 गोताखोर लगे हुए हैं. करीब एक हजार जवान और एक्सपर्ट्स इस अभियान में सहायता कर रहे हैं. बचाव अभियान के प्रमुख नारोंगसाक ने बताया कि- काम जल्द पूरा नहीं हुआ तो बड़ा मौका खो देंगे. क्योंकि बारिश का खतरा बढ़ रहा है. यह टीम 23 जून को गुफा देखने गई थी. बारिश से आई बाढ़ में फंस गई. इन लड़कों की उम्र 11 से 16 साल के बीच है.

ब्रिटिश गोताखोर जॉन वोलेंनथन और रिक स्टैटन रेस्क्यू ऑपरेशन के हीरो हैं. दोनों ने ही गुफा में फंसे बच्चों को सबसे पहले खोजा. ये बच्चे कीचड़ के बीच एक छोटी सी चट्टान पर बैठे मिले थे. जॉन ने जब उनसे पूछा था कि आप कितने लोग हो? तो अंदर से आवाज आई- थर्टीन. जॉन और रिक दुनिया के सबसे माहिर गोताखोर हैं. 2004 में दोनों ने ब्रिटेन की बुकी होल गुफा की गहराई में जाकर रिकॉर्ड बनाया था. रिक फायर ब्रिगेड विभाग से रिटायर्ड हैं और जॉन आईटी सलाहकार हैं. रिक ने 2004 में मैक्सिको में आई बाढ़ में फंसे 6 सैनिकों को बचाया था. सैनिक 9 दिन से गुफा में थे. रिक ने 9 घंटे में उन्हें निकाल लिया था. इसके अलावा 2010 में फ्रांस की गुफा में फंसे फ्रेंच गोताखोर एरिक एस्टाबिले की जान भी इन्होंने बचाई थी. वह ऑपरेशन 8 दिन चला था. हालिया मामले के बाद थाइलैंड नेवी ने जैसे ही इनसे संपर्क किया, दोनों तत्काल राजी हो गए और 27 जून को मौके पर पहुंचकर मिशन शुरू कर दिया.

अधिकारियों के मुताबिक, स्वस्थ बच्चों को सबसे पहले बाहर निकाला गया. बच्चों को बाहर आते ही चियांग राई अस्पताल ले जाया गया. जैसे ही बच्चे सतह पर आए, गोताखोरों ने उन्हें गले से लगा लिया. शनिवार शाम से शुरू हुई बारिश रविवार को दिनभर होती रही.। ऐसा लग रहा था कि यह अड़चन बन सकती है, लेकिन इसका उतना असर नहीं हुआ.

loading...