•  राशिनुसार जानें ये ‘नौ रातें’ क्या लाई हैं आपके लिए

    राशिनुसार जानें ये ‘नौ रातें’ क्या लाई हैं आपके लिए

    आप जानते हैं नौ रातों में ग्रहों की दशा बदलती रहती है. कहा जाता है सूर्य मेष राशि में आते हैं. इसका सभी राशि‍यों पर प्रभाव पड़ता है. जानिये आपकी अपनी राशि पर क्या  प्रभाव होगा. जानते हैं कितना शुभ है ये आपके लिए राशियों के मुताबिक. पढ़ें क्या कुछ है आपके लिए इन नौ रातों में.

  •  नवरात्रि पर जानें माँ दुर्गा के सम्पूर्ण नौ रूपों के बारे में

    नवरात्रि पर जानें माँ दुर्गा के सम्पूर्ण नौ रूपों के बारे में

    हिन्दू पंचांग के अनुसार, चैत्र मास की नवरात्रि को चैत्र नवरात्रि और शरद ऋतु में आने वाली नवरात्रि को शारदीय नवरात्रि के नाम से जाना जाता है. दोनों ही नवरात्रि में दुर्गा के नौ स्वरूपों का पूजन किया जाता है. यही दो नवरात्रि बेहद महत्वपूर्ण हैं. एक नज़र डालते हैं माता के नाम और तिथियों पर.

  •  होलिका दहन पूजा 2018: क्यों किया जाता होलिका दहन, किस शुभ मुहूर्त में करें इस बार पूजा

    होलिका दहन पूजा 2018: क्यों किया जाता होलिका दहन, किस शुभ मुहूर्त में करें इस बार पूजा

    होली का त्‍योहार फाल्‍गुन मास में पूर्ण‍िमा के दिन मनाया जाता है. इस साल यह 2 मार्च 2018 को मनाया जाएगा. यानी 1 मार्च को होलाष्टक खत्‍म होने के साथ होलिका दहन होगा और 2 मार्च को रंगों के साथ त्योहार मनाया जाएगा. वहीं होलिका दहन 1 मार्च को मनाया जाएगा. होलिका दहन को लोग छोटी होली भी कहते हैं.

  • जानें क्या है ब्रज की मशहूर लट्ठमार होली का इतिहास?

    जानें क्या है ब्रज की मशहूर लट्ठमार होली का इतिहास?

    दुनियाभर में मशहूर है ब्रज की लट्ठमार होली. सिर्फ हिंदुस्तान में ही नहीं हर तरफ इससे जुड़े आनन्द के किस्से सुने-सुनाये जाते हैं. ब्रज वही जगह हैं जहाँ स्वयं प्रभु ने होली का उत्सव मनाया था. देसी-विदेसी हर तरह के लोग ब्रज की गलियों में खेली जाने वाली इस अलग तरह की होली देखने के लिए पहुंचते हैं. इस तरह की होली की पीछे यह कारण भी माना जाता है कि ऐसा करके प्रभु श्रीकृष्ण के काल में उनके द्वारा की जाने वाली लीलाओं की पुनरावृत्ति की जा रही है.

  •  बसंत पंचमी के दिन किए जाते हैं ये शुभ कार्य, मां सरस्वती की ऐसे करें अराधना

    बसंत पंचमी के दिन किए जाते हैं ये शुभ कार्य, मां सरस्वती की ऐसे करें अराधना

    सोमवार को देशभर में बसंत पंचमी मनाई जा रही है. इस दिन विद्या और बुद्धि की देवी माँ सरस्वती की उपासना की जाती है. साल के कुछ विशेष शुभ काल में से एक होने की वजह से इसको ‘अबूझ मुहूर्त’ भी कहा जाता है. इसमें विवाह, निर्माण तथा अन्य शुभ कार्य किये जा सकते हैं. ऋतुओं के इस संधि काल में ज्ञान और विज्ञान दोनों का वरदान प्राप्त किया जा सकता है.

Page 1 of 6