•  राज कुमार गुप्ता - घिनौने काम से हारा देश

    राज कुमार गुप्ता - घिनौने काम से हारा देश

    उत्तरप्रदेश के उन्नाव के गैंगरेप के प्रकरण ने पूरे देश को फिर से हिला कर रख दिया है. ये दुष्कर्म मीडिया के सामना आया तभी से इस पर सियासत होने लगी. पिछले कुछ दिनों में इस मामले से सम्बंधित जो भी कुछ हुआ उससे यही लग रहा था कि आम आदमी की कहीं कोई सुनवाई नहीं है. लेकिन इस मामले पर सूबे के मुख्यमंत्री के हस्तक्षेप के बाद आरोपी को पकड़ने के निर्देश दिए हैं. 

  •  राज कुमार गुप्ता – क्या सलमान को मिली बड़ी हस्ती होने की सजा

    राज कुमार गुप्ता – क्या सलमान को मिली बड़ी हस्ती होने की सजा

    बॉलीवुड के सुल्तान खान को 20 साल बाद सजा मिली वो भी पांच साल की. जोधपुर सेशन कोर्ट ने काला हिरण शिकार मामले में उन्हें दोषी करार दिया. काले हिरणों के शिकार की घटना 1998 में ‘हम साथ-साथ हैं’ फिल्म की शूटिंग के बीच हुई थी पर यहाँ सवाल उठता है कि इतने साल बाद फैसला आया और उसमें भी सजा का एलान. इस खबर के आने से पूरे हिंदुस्तान में मानों मातम सा पसर गया हो. उनके लाखों चाहने वालों को दुख पहुंचा है. कुछ लोगों का कहना है कि इस फैसले में कई संदेश छुपे हैं, जिन पर देश के तमाम सिलेब्रिटीज के साथ-साथ आम नागरिकों को भी गौर करना चाहिए. अदालत ने साफ कर दिया है कि दोषी चाहे कितना भी प्रसिद्ध या रसूखवाला क्यों न हो, कानून के फंदे से बच नहीं सकता. पर्यावरण और वन्य जीव जैसे मामले को आम तौर पर संजीदगी से नहीं लिया जाता. इन मामलों में किसी तरह की अनियमितता को लेकर न तो लोग जागरूक होते हैं, न ही प्रशासनिक तंत्र मुस्तैद रहता है. 

  •  राज कुमार गुप्ता – पपेर लीक ने बिगाड़ा सारा खेल, साख पर लगाया बट्टा

    राज कुमार गुप्ता – पपेर लीक ने बिगाड़ा सारा खेल, साख पर लगाया बट्टा

    10वीं और 12वीं कक्षा के क्वेश्चन पेपर लीक होने से CBSE की साख को गहरा धक्का लगा है. 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा 26 मार्च को हुई थी, जबकि 10वीं कक्षा की गणित की परीक्षा 28 मार्च को. परीक्षा से पहले ही हाथ से लिखे सवाल वॉट्सऐप पर शेयर हो रहे थे. पेपर में भी वही सवाल आए. लेकिन सीबीएसई कहता रहा कि पेपर आउट नहीं हुए हैं.

  •  राज कुमार गुप्ता - बच्चों के प्रति अपराध का बढ़ना चिंताजनक विषय

    राज कुमार गुप्ता - बच्चों के प्रति अपराध का बढ़ना चिंताजनक विषय

    बच्चे सुरक्षित तो आने वाला कल सुरक्षित. लेकिन बच्चे ही सुरक्षित नहीं तो आने वाले कल पर भी साया मंडराता रहेगा. राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, 2015 के मुकाबले 2016 में बच्चों के प्रति अपराध के मामलों में ग्यारह फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की गई. इनमें भी कुल अपराधों के आधे से ज्यादा सिर्फ पांच बड़े राज्यों- उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, दिल्ली और पश्चिम बंगाल में हुए. ज़्यादातर मामले अपहरण और उसके बाद बलात्कार के पाए गए.

  •  राज कुमार गुप्ता: प्रतिमा खंडित करने से विचार नहीं मरा करते

    राज कुमार गुप्ता: प्रतिमा खंडित करने से विचार नहीं मरा करते

    आपको क्या लगता है किसी की भी मूर्ती तोड़ दो...और बस हो गया. क्या इससे उसकी सोच मर जायेगी. क्या इससे उस भावना को मारा जा सकेगा जो वो छोड़ गया है. मूर्तियां तोड़ने का दौर पूरे देश के लिए चिंता का विषय है. ये कोई साधारण मूर्तियाँ नहीं, अपितु वैचारिक नेताओं की मूर्तियाँ थी, जो धराशाई कर दी गयीं. एक बात जो गौर करने वाली है वो यह है कि इनके टूटने का सिलसिला त्रिपुरा में बीजेपी के जीतने के बाद शुरू हुआ. त्रिपुरा में बीजेपी की जीत के बाद वहां रूसी क्रांति के नायक लेनिन की दो मूर्तियां बुलडोजर लगाकर ढहा दी गईं. इसके बाद तमिलनाडु में ब्राह्मणवाद-विरोधी नेता पेरियार की और कोलकाता में जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को क्षति पहुंचाई गई. इसके बाद तो सिलसिला चल निकला. मेरठ में लगी बीआर आंबेडकर की एक मूर्ति टूटी मिली. 

Page 1 of 3