• जानें क्या है अक्षय नवमी, क्यूँ इस दिन करते हैं आंवले की पूजा

    जानें क्या है अक्षय नवमी, क्यूँ इस दिन करते हैं आंवले की पूजा

    कार्तिक मास पवित्र महीनों में से एक माना जाता है. इसमें नहाने का अपना ही महत्व है लेकिन एक और वजह से महीना शुभ होता है. कार्तिक मास में आती है अक्षय नवमी. कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमी को अक्षय नवमी कहते हैं. दिवाली के लगभग 10 दिनों बाद और कार्तिक मास में होने वाली इस पूजा को आंवला नवमी भी कहते हैं. इस दिन स्नान करने से अक्षय प्राप्त होता है. हिंदू रीति रिवाज में इस दिन शादी-शुदा महिलाएं व्रत रखती हैं और कथा भी सुनती हैं. इस साल हिंदू पंचांग के अनुसार 9 नवंबर को ये पूजा होगी.

  • छठ में इन चीज़ों का है बढ़ा महत्व, जुड़ी है छठी मैय्या से आस्था

    छठ में इन चीज़ों का है बढ़ा महत्व, जुड़ी है छठी मैय्या से आस्था

    छठ पर्व में सूर्य देव और षष्टी माता यानी छठ मैय्या की पूजा होती है. जो इनकी भक्त‌ि भाव से पूजा करता है उनकी सभी मनोकामना पूरी करती हैं. इसल‌िए भक्त पूरी श्रद्धा से छठ पर्व में मैय्या को तरह-तरह भोग लगाते हैं. इनमें कई तरह के फल, म‌िठाईयां और पकवान शाम‌िल होते हैं. इनमें 6 ऐसी चीजें हैं जो हर भक्त छठी मैय्या को अर्प‌ित करता है. 

  • जानें भैया दूज मनाने का सही तरीका और शुभ मुहूर्त

    जानें भैया दूज मनाने का सही तरीका और शुभ मुहूर्त

    दिवाली के 5 दिन के पर्व में आखिरी दिन भाई दूज मनाया जाता है. हर साल कार्तिक शुक्ल द्वितीया तिथि को भाई दूज का पर्व मनाया जाता है. इस त्यौहार को भाई-बहन के पवित्र प्रेम का प्रतिक माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि इस दिन बहन के घर भोजन करने से भाई की उम्र बढ़ती है. 

  • ऐसे करें गोवर्धन पूजा, पूरी होगी हर मनोकामना

    ऐसे करें गोवर्धन पूजा, पूरी होगी हर मनोकामना

    पूरे देश में हर साल दिवाली के अगले दिन गोवर्धन पूजा की जाती है. कई जगहों पर इसे अन्नकूट के नाम से भी जाना जाता है. यह पूजा द्वापर युग से शुर हुई है. इस दिन लोग बड़े ही श्रद्धा भाव से गाय के गोबर से गोवर्धन नाथ जी की अल्पना बनाकर उनक पूजन करते हैं. इसके बाद गिरिराज भगवान को प्रसन्न करने के लिए उन्हें अन्नकूट का भोग लगाया जाता है.

  • इस दिवाली करें माँ गजलक्ष्मी की पूजा, होगी अपार कृपा

    इस दिवाली करें माँ गजलक्ष्मी की पूजा, होगी अपार कृपा

    दिवाली पर सभी लोग माँ लक्ष्मी को खुश करने के लिए पूजा-पाठ में लग जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं माँ लक्ष्मी के कई रूप हैं जिनकी दिवाली पर पूजा अर्चना करने से असीम कृपा मिलती है. माँ का एक रूप हैं “गजलक्ष्मी”. मध्यप्रदेश के उज्जैन में स्थित मां श्री गजलक्षमी का मंदिर. कहा जाता है कि दिवाली से पहले मां गजलक्षमी की पूजा करना बेहद शुभ होता है और इससे धन और यश का लाभ होता है.

Page 6 of 8