•  इन 5 बातों का ध्यान रखें और मनाएं वैदिक रक्षाबंधन

    इन 5 बातों का ध्यान रखें और मनाएं वैदिक रक्षाबंधन

    इस साल रक्षाबंधन का अटूट विश्वास का त्यौहार 26 अगस्त को मनाया जायेगा, जिस कारण बाज़ार में भिन्न-भिन्न प्रकार की राखियाँ दिखाई देने लगी हैं. आधुनिकरण के कारण परम्पराओं में भी काफी बदलाव देखा जा रहा है. 26 अगस्त को मनाया जायेगा. यह भी पढ़े: इस रक्षाबंधन बहनें रखें इन बातोँ का ध्यान

  •  सावन में शिवलिंग पर इसलिए चढ़ाए जाते हैं बेलपत्र

    सावन में शिवलिंग पर इसलिए चढ़ाए जाते हैं बेलपत्र

    सावन का महीना 28 जुलाई से शुरू हो गया है. आज यानी 30 जुलाई को सावन का पहला सोमवार है और देशभर के मंदिरों में शिव भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी है. भोलेनाथ इस पूरे महीने अपने भक्तों पर विशेष कृपा बरसाते हैं. भगवान शंकर के बारे में कहा जाता है कि इनकी पूजा में महंगे चढ़ावों की नहीं, बल्कि ये जंगली फल और फूल के चढ़ावे से भी खुश हो जाते हैं. इस पूरे महीने भोलेनाथ के भक्त गंगाजल से उनका स्नान कराते हैं और बेलपत्र चढ़ाते हैं. आपको बता दें कि, सामान्य सोमवार के दिन भी शिवलिंग पर गंगाजल और बेलपत्र चढ़ाने का खास महत्व है. लेकिन सावन के सोमवार के दिन शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाने का खास विधान है. लेकिन क्या आपको पता है कि बेलपत्र चढ़ाने और उसे तोड़ने का खास नियम है और हर भक्त को इसका पालन अवश्य करना चाहिए.

  •  बहुत खास है श्रावण मास का पहला दिन, ले आएं इन 10 में से कोई एक चीज, बनेंगे सभी बिगड़े काम

    बहुत खास है श्रावण मास का पहला दिन, ले आएं इन 10 में से कोई एक चीज, बनेंगे सभी बिगड़े काम

    सावन महीने की आज से शुरुआत हो गई है. सावन के महीने में भगवान भोलेनाथ की अराधना होती है. सोमवार के व्रत रखे जाते हैं. इस पूरे महीने सात्‍व‍िक धर्म का पालन करने की परंपरा है. सावन के व्रत और कथा के बारे में तो लगभग हर कोई जानता है. लेकिन क्‍या आप ये जानते हैं कि सावन के पहले दिन कुछ खास चीजों की खरीदारी आपके लिए कितनी मददगार हो सकती है. हम आपको बता रहे हैं ऐसी ही 10 चीजों के बारे में, जिनमें से कोई एक भी अपने घर ले आएं तो काफी फायदा हो सकता है. यह भी पढ़ें: जानें भगवान शिव को श्रावण मास क्यों है इतना प्रिय

  •  27 जुलाई को पड़ने वाला चन्द्र ग्रहण इसलिए है खास, इन बातों का रखें ध्यान

    27 जुलाई को पड़ने वाला चन्द्र ग्रहण इसलिए है खास, इन बातों का रखें ध्यान

    शुक्रवार रात को सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण लगने जा रहा है. शुक्रवार देर रात इसे देखा जा सकेगा. भारत में ये साफ तौर पर दिखाई देगा. चूंकि ये सदी का सबसे लंबा ग्रहण है तो लोगों में कई तरह की भावनाएं भी हैं.

  •  13 जुलाई को दूसरा सूर्य ग्रहण, इन बातों का रखें ध्यान

    13 जुलाई को दूसरा सूर्य ग्रहण, इन बातों का रखें ध्यान

    जुलाई महीने में सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण दोनों पड़ रहे हैं. आषाढ़ कृष्ण अमावस्या (13 जुलाई 2018) को सूर्य ग्रहण है जो वर्ष का दूसरा सूर्य ग्रहण है. चूंकि भारत में यह ग्रहण आंशिक होगा इसलिए इसका कोई बड़ा प्रभाव देखने को नहीं मिलेगा, फिर भी इस ग्रहण को सूतक माना जाएगा और इसका कुछ राशियों पर प्रभाव भी पड़ेगा. 13 जुलाई को पड़ने वाला सूर्य ग्रहण का असर दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न, स्टीवर्ट आईलैंड और होबार्ट में ज्यादा दिखाई देगा. वहीं 27 जुलाई को चंद्रग्रहण रहेगा.

Page 1 of 9