• रहस्यमयी और अलौकिक निधिवन : यहाँ आज भी राधा संग रास रचाते है श्रीकृष्ण, देखने वाले हो जाते हैं पागल

    रहस्यमयी और अलौकिक निधिवन : यहाँ आज भी राधा संग रास रचाते है श्रीकृष्ण, देखने वाले हो जाते हैं पागल

    भारत में ऐसे बहुत से स्थान हैं जहां रहस्यमयी अौर चमत्कारों की कहानियां सुनने को मिलती हैं। वृंदावन भी ऐसी जगह है, जहां भगवान कृष्ण का बचपन गुजरा था। वहीं एक निधि वन है जहां माना जाता है कि प्रत्येक रात को श्रीकृष्ण देवी राधा और गोपियों के संग रासलीला करते हैं।

  • श्रीराधाकृष्ण के इस मंदिर में रोज लगता है सात बार भोग

    श्रीराधाकृष्ण के इस मंदिर में रोज लगता है सात बार भोग

    राजस्थान के करौली किले में कान्हा जी यानी मदन मोहनजी का मंदिर है। भगवान श्रीकृष्ण के अनेक नामों में से एक मदन मोहन भी है। इस मंदिर का निर्माण महाराजा गोपाल सिंह ने करवाया था। इस मंदिर में भगवान कृष्ण और देवी राधा की प्रतिमाएं हैं। करौली के निवासियों में मदन मोहन के प्रति अपार श्रद्धा और आस्था है। 

  • एकलौता मंदिर जहां महिला पंडित कराती हैं पूजा

    एकलौता मंदिर जहां महिला पंडित कराती हैं पूजा

    अहिल्‍या के मंदिर में हजारों की संख्या में श्रद्धालू पहुंचते हैं. ये मंदिर वहीं है, जहां भगवान राम ने अहिल्‍या का उद्धार किया था.

  • मनोकामना पूर्ण होने पर इस मंदिर में चढाएं जाते हैं घोड़े

    मनोकामना पूर्ण होने पर इस मंदिर में चढाएं जाते हैं घोड़े

    हरियाणा के कुरुक्षेत्र में भद्रकाली देवीकूप मंदिर स्थित है. मां भद्रकाली देवीकूप मंदिर में सती माता का दायां टखना गिरा था और यह प्रसिद्ध शक्तिपीठ मां काली के आठ स्वरूपों में से एक है. मन्नत पूरी होने पर यहां श्रद्धालु माता को सोने, चांदी व मिट्टी के घोड़े चढ़ाते हैं.

  • शिंगणापुर में खुले आसमान के नीचे विराजमान हैं शनिदेव

    शिंगणापुर में खुले आसमान के नीचे विराजमान हैं शनिदेव

    देश में सूर्यपुत्र शनिदेव के कई मंदिर हैं. लेकिन उनमें सर्वाधिक प्रमुख है महाराष्ट्र के अहमदनगर स्थित शिंगणापुर का शनि मंदिर. विश्व प्रसिद्ध इस शनि मंदिर की विशेषता यह है कि यहां स्थित शनिदेव की प्रतिमा बगैर किसी छत्र या गुंबद के खुले आसमान के नीचे एक संगमरमर के चबूतरे पर विराजित है.

Page 1 of 2