• पंचांग: 20th February 2017

    पंचांग: 20th February 2017

    शुभ विक्रम संवत- 2073, अयन- उत्तरायन, मास- फाल्गुन, पक्ष- कृष्ण, हिजरी सन्‌- 1438, मु. मास- जमाद अल-उला, तारीख- 22।
     
    दिवस तिथि- नवमी।
     
    दिवस नक्षत्र- ज्येष्ठा (मूल)।
     
    शुभ समय- सुबह 6.00 से 7.30 तथा 9.00 से 10.30 बजे तक।
     
    दिशाशूल- पूर्व, आग्नेय। 
     
    सुझाव- दर्पण में अपना चेहरा देखकर तथा शिवजी को प्रणाम कर घर से निकलें।  

  • पंचांग: 19th February 2017

    पंचांग: 19th February 2017

    शुभ विक्रम संवत- 2073, अयन- उत्तरायन, मास- फाल्गुन, पक्ष- कृष्ण, हिजरी सन्‌- 1438, मु. मास- जमाद अल-उला, तारीख- 21।
     
    दिवस तिथि- अष्टमी।
     
    दिवस नक्षत्र- अनुराधा (मूल)।
     
    शुभ समय- सुबह 9.00 से दोपहर 12.00 तथा 1.30 से 3.00 बजे तक।
     
    दिशाशूल- पश्चिम, नैऋत्य, ईशान।
     
    सुझाव- पान खाकर तथा अपने बड़ों को प्रणाम कर घर से निकलें।  

  • पंचांग: 18th February 2017

    पंचांग: 18th February 2017

    शुभ विक्रम संवत- 2073, अयन- उत्तरायन, मास- फाल्गुन, पक्ष- कृष्ण, हिजरी सन्‌- 1438, मु. मास- जमाद अल-उला, तारीख- 20।
     
    दिवस तिथि- सप्तमी।
     
    दिवस नक्षत्र-
    विशाखा।
     
    शुभ समय- सुबह 7.30 से 9.00 तथा दोपहर 3.00 से 6.00 बजे तक।
     
    दिशाशूल- पूर्व।
     
    सुझाव- अदरक साथ में लेकर तथा हनुमानजी को प्रणाम कर घर से निकलें।  

  • पंचांग: 17th February 2017

    पंचांग: 17th February 2017

    शुभ विक्रम संवत- 2073, अयन- उत्तरायन, मास- फाल्गुन, पक्ष- कृष्ण, हिजरी सन्‌- 1438, मु. मास- जमाद अल-उला, तारीख- 19।
     
    दिवस तिथि- षष्ठी।
     
    दिवस नक्षत्र- स्वाति।
     
    शुभ समय- सुबह 7.30 से 10.30 तथा दोपहर 12.00 से 1.30 बजे तक।
     
    दिशाशूल- पश्चिम, नैऋत्य।
     
    सुझाव- दही खाकर तथा माता लक्ष्मी को प्रणाम कर घर से निकलें।  

  • पंचांग: 16th February 2017

    पंचांग: 16th February 2017

    शुभ विक्रम संवत- 2073, अयन- उत्तरायन, मास- फाल्गुन, पक्ष- कृष्ण, हिजरी सन्‌- 1438, मु. मास- जमाद अल-उला, तारीख- 18।
     
    दिवस तिथि- पंचमी।
     
    दिवस नक्षत्र- चित्रा।
     
    शुभ समय- दोपहर 12.00 से 3.00 तथा 4.30 से शाम 6.00 बजे तक।
     
    दिशाशूल- दक्षिण, आग्नेय।
     
    सुझाव- हाथ में राई लेकर तथा अपने ईष्ट देवता को प्रणाम कर घर से निकलें।  

Page 2 of 16