• भगवान श्री कृष्‍ण को अति प्र‌िय है यह पांच वस्तु, आज जरूर भोग लगाएं

    भगवान श्री कृष्‍ण को अति प्र‌िय है यह पांच वस्तु, आज जरूर भोग लगाएं

    यशोदा के लाल भगवान श्री कृष्‍ण अपने भक्तों के हृदय में रहते हैं और भक्त जो भी उन्हें प्रेम से भेंट करते है उसे वह खुशी खुशी ग्रहण करते हैं. तभी तो क‌िसी भक्त के बनाए चूरमे को खाकर तो क‌िसी भक्त‌िनी के घर ख‌िचाड़ी खाने वेष बदलकर आ जाते हैं। लेक‌िन मदन गोपाल को सबसे प्र‌िय यह 5 चीजें हैं इन्हें खाकर श्री कृष्‍ण अत‌ि प्रसन्न हो जाते हैं तो जन्माष्टमी के शुभ मौके पर अपने कान्हा को भी ख‌िलाएं यह 5 चीजें।

  • जानिए जन्माष्टमी में पूजा करने का सही समय और मुहूर्त

    जानिए जन्माष्टमी में पूजा करने का सही समय और मुहूर्त

    अबकी बार जन्माष्टमी का त्योहार 25 अगस्त को मनाया जाएगा. यह जन्माष्टमी बेहद ख़ास है क्योंकि इस बार गृह, नक्षत्रों का संयोग वैसा ही है, जैसा भगवान श्री कृष्ण के जन्म के वक्त था. ऐसा संयोग बहुत ही कम देखने को मिलता है.

  • जन्माष्टमी पर विशेष: प्रभु श्रीकृष्ण का नाम जपो, मोह-माया से दूर रहो

    जन्माष्टमी पर विशेष: प्रभु श्रीकृष्ण का नाम जपो, मोह-माया से दूर रहो

    भगवान विष्णु के अवतार श्रीकृष्ण को सोलह कला सम्पन्न-सुसज्जित माना जाता है. उन्होंने प्राणीमात्र को संदेश दिया कि फल की इच्छा रखना व्यर्थ है सिर्फ कर्म ही मनुष्य का अधिकार है. भगवान श्रीकृष्ण जेल में पैदा हुए, महल में जीए और जंगल से विदा हुए. जन्माष्टमी भगवान श्रीकृष्ण का जनमोत्स्व है. जन्माष्टमी की रात्रि को मोहरात्रि भी कहा गया है. कहतें है भगवान श्रीकृष्ण का ध्यान करने और उनका  नाम जपने से मनुष्य सभी मोह-माया से मुक्त हो जाता है.

  • कृष्ण की लीलायें जिन्हें देख लोगों ने उन्हें बनाया भगवान श्री कृष्‍ण

    कृष्ण की लीलायें जिन्हें देख लोगों ने उन्हें बनाया भगवान श्री कृष्‍ण

    हिन्दू शास्त्रों के मुताबिक श्री कृष्‍ण भगवान विष्णु के अवतार कहे जाते हैं. लेकिन उन्हें भगवान के रूप में क्यों पूजा जाता है इसके पीछे हैं उनकी लीलाएं. आज हम उन्हीं लीलाओं के बारे में बता रहे हैं. श्री कृष्‍ण का जन्म कंस के कारावास में हुआ और जन्म के समय कारावास के दरवाजे खुल गए और सभी पहरेदार गहरी नींद में सो गए. जन्म के  आकाशवाणी भी हुई क‌ि नवजात बच्चे को नंदगांव में नंदराय जी के घर पहुंचा दो और इसके बदले नंदराय की नवजात कन्या ले आओ. यहीं से उनकी लीलाएं शुरू हो गई थी.

  • जन्माष्टमी पर कैसे खुश करें भगवान विष्णु को, जाने तरीके

    जन्माष्टमी पर कैसे खुश करें भगवान विष्णु को, जाने तरीके

    जन्माष्टमी की शुभ घड़ी आने ही वाली है. सभी भगवान विष्णु को खुश करने में लग जाएंगे. पुराणों में भी बताया गया है कि अगर भगवान विष्णु को खुश कर लिया, तो भक्त की हर मनोकामना पूरी हो जाती है. अगर आप भी करना चाहते हैं अपनी इच्छा की पूर्ति तो इन बातों का विशेष ध्यान रखें.

Page 8 of 9