• सावन में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय

    सावन में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय

    शिवजी को प्रसन्न करने के लिए सावन माह में उनका विशेष पूजन करना चाहिए. इस पूजा-अर्चना के दौरान आपको उनसे मनचाहा वरदान पाने के लिए कुछ खास चीजों को अर्पण करना चाहिए. हम आप को बताते है, किन चीजों के अभिषेक से भगवान शिव सुनेंगे आपकी पुकार

  • सावन में ऐसे करें शिव की पूजा, तो पूरी होगी हर मुराद

    सावन में ऐसे करें शिव की पूजा, तो पूरी होगी हर मुराद

    श्रावण मास चल रहा है. कहा जाता है कि श्रावण मास भगवान शिव का प्रिय मास है. इसीलिए भक्तगण भोलेनाथ की भक्ति में लीन होकर, भोलेनाथ को खुश करने में लगे हैं. शास्त्रों में कहा गया है कि शिव को अभिषेक अतिप्रिय है, इसीलिए सभी सनातनधर्मी भगवान श्रीरुद्र को प्रसन्न करने के लिए अनेक प्रकार से अभिषेक कर पूजा-अर्चना कर रहें हैं. 

  • जानें भगवान शिव को श्रावण मास क्यों है इतना प्रिय

    जानें भगवान शिव को श्रावण मास क्यों है इतना प्रिय

    श्रावण मास शिव भगवान को बहुत प्रिय है. इस मास में शिव का अभिषेक करने से शिव सभी की मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं. इस मास में शिव का रूद्र नाम भी बहुत प्रचलित है. इसके आलावा शिव जी को पशुपति, भव, शर्व, उग्र, महादेव, और ईशान नाम भी कहा जाता है.

  •  आज है देवशयनी एकादशी, 4 महीने बाद ही होंगे शुभ कार्य

    आज है देवशयनी एकादशी, 4 महीने बाद ही होंगे शुभ कार्य

    मंगलवार को देवशयनी एकादशी है. आषाढ़ शुक्ल एकादशी से कार्तिक शुक्ल एकादशी तक 4 महीने भगवान विष्णु का शयनकाल होता है. 31 अक्टूबर 2017 को देवोत्थान एकादशी के दिन भगवान का शयनकाल समाप्त होगा. इन 4 महीनों में विवाह, गृहप्रवेश आदि मांगलिक कार्यों को करने की मनाही रहती है. इसीलिए 4 महीने हिंदू परिवारों में विवाह नहीं होते हैं.

  • नवरात्रि के पांचवें दिन की जाती है मां स्कंदमाता की पूजा, होती है संतान व मोक्ष की प्राप्ति

    नवरात्रि के पांचवें दिन की जाती है मां स्कंदमाता की पूजा, होती है संतान व मोक्ष की प्राप्ति

    आज नवरात्रि का पांचवा दिन है, इस दिन माता स्कंदमाता की पूजा करने का विधान है. भगवान स्कंद की माता होने के कारण देवी को स्कंदमाता कहा जाता है. सच्चे मन से मां की पूजा करने से मां अपने भक्तों पर प्रसन्न होकर उन्हें मोक्ष प्रदान करती हैं. माता के पूजन से व्यक्ति को संतान प्राप्त होती है.

Page 5 of 9