बलिया-सियालदह एक्सप्रेस में बच्ची के साथ दुष्कर्म, आरोपी रेलकर्मी गिरफ्तार

बलिया-सियालदह एक्सप्रेस में बच्ची के साथ दुष्कर्म, आरोपी रेलकर्मी गिरफ्तार

 बिहार में एक बार फिर से रेलवे की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं। रेलवे की सुरक्षा को ताक पर रखते हुए एक लोको पायलट द्वारा चलती ट्रेन में नाबालिग बच्ची के साथ रेप करने का मामला प्रकाश में आया है। घटना बलिया-सियालदह एक्सप्रेस की है। घटना का पर्दाफाश होते ही बेगूसराय के बरौनी जीआरपी और आरपीएफ ने कारवाई करते हुए आरोपी सहायक चालक (लोको पायलट) गोविंद्र कुमार को बरौनी में गिरफ्तार कर लिया। वहीं, पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए बेगूसराय के सदर अस्पताल में भेज दिया गया है।

पुलिस के अनुसार, 13106 बलिया-सियालदह एक्सप्रेस के स्लीपर कोच में पीड़ित बच्ची अपने माता-पिता के साथ शादी समारोह में हिस्सा लेने सियालदह जा रही थी। वह सोमवार देर शाम ऊपर के बर्थ पर सोने चली गई। अरोपी रेलकर्मी भी बैठने के लिए बच्ची के बर्थ पर चला गया।

बताया गया कि बच्ची के सो जाने के बाद महनार स्टेशन के समीप उसने उक्त नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। बाद में बच्ची ने इसकी सूचना अपने परिजनों को दी। इस घटना की भनक मिलते ही कोच में बैठे अन्य यात्री भी आक्रोशित हो उठे और आरोपी की जमकर पिटाई की। हंगामा होते देख डयूटी पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने आरोपी को हिरासत में ले लिया।

ट्रेन के बरौनी जंक्शन पहुंचने पर आरोपी रेल कर्मी को राजकीय रेल पुलिस (जीआरपी) के हवाले कर दिया गया। बरौनी रेल थाना प्रभारी आलोक प्रताप सिंह ने मंगलवार को बताया कि पीड़िता सोनपुर से सियालदह जा रही थी।

बच्ची को घायलावस्था में बेगूसराय सदर अस्पताल में भेजा गया है। बताया जा रहा है कि आरोपी गोविंद्र कुमार ने इसी साल 28 अक्टूबर को लोको पायलट की नौकरी ज्वाइन की थी। उसकी नौकरी के एक महीने भी पूरे नहीं हुए थे। गिरफ्तार युवक सहरसा पचगछिया निवासी गोविंद्र कुमार वाराणसी रेल मंडल के छपरा में रेल सहायक लोको पायलट है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है।

loading...