ब्रिटेन से न्याय की मांग करते हुए भारतीय छात्रों ने पीएम मोदी को लिखा खत

 रेप के मामलों में न्याय जरूर हो, ब्रिटेन आने से पहले मोदी ये निश्चित करें: पीएम मोदी को छात्रों का खत

ब्रिटेन में रह रहे भारतीय छात्रों और पूर्व छात्रों ने लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग में पीएम नरेंद्र मोदी के लिए एक पत्र दिया है जिसमें मोदी से भारत के विभिन्न राज्यों में दर्ज रेप के मामलों में न्याय सुनिश्चित करने के लिए असाधारण उपाय करने को कहा गया है.
 
राष्ट्रीय भारतीय छात्र एवं पूर्व छात्र संघ (एनआईएसएयू) ब्रिटेन ने ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों की भारत से संबंधित 19 सोसायटी ने 14 अप्रैल को लिखा गया खत सौंपा. भारतीय प्रधानमंत्री मंगलवार से ब्रिटेन की चार दिवसीय यात्रा पर आ रहे हैं. संगठन ने भारत सरकार से जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश और हाल में गुजरात में दर्ज दर्दनाक बलात्कार के मामलों में असाधारण उपाय करने का अनुरोध किया.

यह पत्र जम्मू कश्मीर के कठुआ में आठ वर्ष की लड़की की बलात्कार के बाद हत्या, उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक युवती के कथित बलात्कार और गुजरात में 11 साल की लड़की के कथित रेप हत्या मामले से संबंधित हैं.

पत्र में कहा गया है कि माननीय प्रधानमंत्री, असाधारण समय असाधारण उपायों की मांग करता है. आप अतीत में नोटबंदी जैसे मुश्किल फैसलों से दूर नहीं गए हैं, कृपया इसी तरह के असाधारण कदम उठाकर साबित करें कि इंडिया की बेटियां मायने रखती हैं. खत में लिखा गया है कि हम उम्मीद करते हैं कि जब आप ब्रिटेन आएंगे, तब तक आप इस मामले पर कार्रवाई कर चुके होंगे और इंडिया में कानून और व्यवस्था ठीक से लागू होगी, ताकि जब आप भारत की बात सबके साथ में हमें संबोधित करेंगे तो बता पाएं कि इन मामलों पर आपने क्या कदम उठाए.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने ब्रिटेन दौरे में लंदन के ऐतिहासिक सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर से विश्व को संबोधित करेंगे. मोदी स्वीडन से यहां मंगलवार की रात को पहुंचेंगे और द्विपक्षीय बैठकों के लिए बुधवार को उनका व्यस्त कार्यक्रम है. इसके बाद सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर से उनके भाषण का लाइव टेलीकास्ट होगा. 
 

loading...