Karnataka रुझानों को देखते हुए बीजेपी का कांग्रेस पर कटाक्ष, बोले रमन सिंह – अब खोजनी पड़ेगी कांग्रेस

 ‘देश में चलेगा कांग्रेस ढूंढो अभियान’: रुझानों से खुश होकर बोले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह

कर्नाटक में आये रुझानों में फिलहाल बीजेपी आगे है. रुझानों में मिली जीत से बीजेपी खेमें में खुशियाँ है. हालाँकि शाम तक मालूम होगा कौन सरकार बनायेगा? फिलहाल रुझानों को देखते हुए सभी नेता अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. भाजपा के नेता और छत्तीसगढ़ के मुखिया रमन सिंह ने जीत को ऐतिहासिक करार देते हए कहा, 'मैं कर्नाटक के लोगों को हमारे पक्ष में वोटिंग करने के लिए धन्यवाद देता हूं. अब देश में कांग्रेस खोजो अभियान चलेगा, कहां रहेगी पता नहीं.' 

राज्य के प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, 'कर्नाटक के लोग सुशासन चाहते हैं इसी वजह से भाजपा को उन्होंने चुना है. यह पार्टी के लिए काफी बड़ी जीत है. कांग्रेस राज्य दर राज्य हारती जा रही है और हम हर राज्य को जीत रहे हैं.'

भाजपा के महासचिव राम माधव ने कहा, मैं कर्नाटक की जनता को इस जनादेश के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं. इसके साथ ही श्रेय पीएम मोदी और अमित शाह जी को भी जाता है. 

वहीँ केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने पार्टी मुख्यालय में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ जीत का जश्न मनाते हुए मिठाई खिलाई. भाजपा के सदानंद गौड़ा का कहना है कि जेडीएस से समर्थन लेने का सवाल ही नहीं उठता. हम अपने दम पर सरकार बनाएंगे

चामुंडेश्वरी से सिद्धारमैया के खिलाफ चुनाव लड़ रहे जेडीएस के उम्मीदवार जीटी देवगौड़ा ने कहा, लोगों ने सिद्धारमैया को नकार दिया है. वह अपने व्यवहार की वजह से हारे क्योंकि वह हर किसी पर हमला किया करते थे. वह निम्न स्तर की बातें किया करते थे.

इस रुझानों से कांग्रेस के नेता हार पर जवाब देते हुए सफाई दे रहे हैं. कांग्रेस के मंत्री डीके शिवकुमार ने कहा, 'राहुल गांधी ने अपना बेस्ट किया लेकिन यह हम हैं जो चुनाव हार गए. हमारी स्थानीय नेतृत्व पर पकड़ कमजोर हो गई, हम स्थानीय मुद्दों को ठीक तरह से पकड़ नहीं पाए. इसी वजह से हम चुनाव हार गए.'

वहीं कांग्रेस नेता मोहन प्रकाश ने ईवीएम पर सवाल उठाए हैं. प्रकाश ने कहा, 'मैं पहले दिन से यह बात कह रहा हूं. भारत में कोई ऐसी राजनीतिक पार्टी नहीं है जिसने ईवीएम पर सवाल ना उठाए हों. यहां तक कि भाजपा ने भी अतीत में ऐसा किया है. अब जहां सभी पार्टियां ईवीएम पर शक कर रही हैं तो ऐसे में भाजपा को बैलेट पेपर के जरिए चुनाव करवाने में आखिर क्या परेशानी है?' 

उमर अब्दुल्ला ने इशारों-इशारों में ईवीएम पर सवाल उठाने वालों को जवाब दिया है. उन्होंने कहा, अगर मेरी जीत होती तो यह कड़ी मेहनत और चार्म का फल होता. मगर मेरी हार होती है तो उसकी वजह ईवीएम है.

सबसे तीखी प्रतिक्रिया केंद्रिय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने दी है. उन्होंने कांग्रेस को गंदगी बताते हुए कहा, ‘अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी की यह तीसरी लगातार हार है. उन्होंने खुद को पीएम पद का उम्मीदवार घोषित किया है. अब अगर सारा विपक्ष एक होना चाहता है तो हमारे लिए भी यह ठीक है कि देश की जितनी गंदगी है वो एक साथ हटे’.

loading...