खुद को मिले नोटिस पर बिफरे लालू के सपूत तेजप्रताप, कहा भाजपा भी अपराधियों के साथ फोटो खिंचवाती है

खुद को मिले नोटिस पर बिफरे लालू के सपूत तेजप्रताप, कहा भाजपा भी अपराधियों के साथ फोटो खिंचवाती है

अभी सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस ही दिया था कि लगे तेज प्रताप यादव एतराज जताने. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव ने पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड के संदिग्ध के साथ फोटो वायरल होने पर सुप्रीम कोर्ट से शुक्रवार को नोटिस मिलने पर एतराज जताया और कहा कि कौन किसके साथ फोटो खिंचवाये पता नहीं चलता. यादव ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वैसे भी किसी के चेहरे पर नहीं लिखा होता की कौन कैसा है. कौन अपराधी है और कौन नहीं. कोई किसी के भी साथ फोटो खिंचवाए पता नहीं चलता. अगर मुझे नोटिस दिया है इस बात के लिए तो भारतीय जनता पार्टी को भी नोटिस मिलना चाहिए.

भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अपराधियों के साथ तो भाजपा के कई नेताओं की भी फोटो है. हालांकि उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का वह सम्मान करते हैं.

आपको बता दें, हिन्दुस्तान में सीवान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड के संदिग्ध मो. कैफ उर्फ बंटी का फोटो स्वास्थ्य मंत्री के साथ 15 सितम्बर को वायरल हुआ था और इसके एक दिन बाद ही केन्द्रीय मंत्री-भाजपा के वरिष्ठ नेता मुख्तार अब्बास नकवी के साथ भी मो. कैफ की फोटो सोशल मीडिया में वायरल हुई थी. इससे पहले राजद के बाहुबली पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के 10 सितम्बर को भागलपुर जेल से रिहा होने के समय भी कैफ उनके बगल में खड़ा दिखाई दिया था और यह तस्वीर भी मीडिया में वायरल हुई थी. पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी आशा देवी ने पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन पर उनके पति की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है.

इतना तो कहना पड़ेगा कि आरोपी कैफ की पहुँच काफी ऊपर तक है. हालाँकि कैफ खुद को पुलिस को सरेंडर का चुका है.
 

loading...