•  कुख्यात आतंकी मसूद अजहर का बिस्तर से उठाना हुआ मुश्किल, इस जानलेवा बीमारी से है पीड़ित

    कुख्यात आतंकी मसूद अजहर का बिस्तर से उठाना हुआ मुश्किल, इस जानलेवा बीमारी से है पीड़ित

    आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के संस्थापक मसूद अजहर की तबीयत काफी खराब है. जिसके चलते वह बेड रेस्ट पर है. यह खबर भारतीय खूफिया एजेंसी के अधिकारियों ने दी है. उसने अपने संगठन से संबंधित जिम्मेदारियों को अपने छोटे भाईयों रौफ असगर और अथर इब्राहिम के बीच बांट दिया है.

  •  इन दो शख्सियतों को मिलेगा अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार

    इन दो शख्सियतों को मिलेगा अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार

    अर्थशास्त्र के क्षेत्र में सराहनीय योगदान के लिए इस साल अमेरिका के दो अर्थशास्त्रियों को नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है. रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ इकोनॉमिक्स ने सोमवार इस पुरस्कार के लिए विलियम डी नोर्डहॉस और पॉल रोमर के नाम का एलान किया है. इन दोनों अर्थशास्त्रियों को यह सम्मान जलवायु परिवर्तन और आर्थिक विकास पर खोज के लिए दिया जा रहा है.

  •  अमेजन-एपल में लगी सीक्रेट माइक्रोचिप से जासूसी करा रहा है चीन

    अमेजन-एपल में लगी सीक्रेट माइक्रोचिप से जासूसी करा रहा है चीन

    चीनी जासूसों के साइबर हमले की चपेट में अमेरिका की लगभग 30 कंपनियां आ गई हैं. इनमें अमेजन और एपल जैसी कंपनियां भी हैं. अमेजन के सर्वर की जांच के समय मदरबोर्ड पर यह चिप पाई गई. अमेजन डॉट कॉम ने अपनी वीडियो सेवा को बेहतर बनाने के लिए 2015 में एलीमेंटल टेक्नोलॉजी नाम से एक स्टार्टअप शुरू किया था, जिसे आज अमेजन प्राइम वीडियो के नाम से जाना जाता है. एलीमेंटल की सुरक्षा की जांच के लिए अमेजन वेब सर्विसेज (एडब्ल्यूएस) ने एक थर्ड पार्टी कंपनी से करार किया.

  •  प्लेन ने रनवे की जगह समुंद्र में कर डाली लैंडिंग, विडियो देखकर हो जायेंगे हैरान

    प्लेन ने रनवे की जगह समुंद्र में कर डाली लैंडिंग, विडियो देखकर हो जायेंगे हैरान

    न्यूजीलैंड में सुदूर माइक्रोनेशिया द्वीप पर चुक इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरने से पहले ही पापुआ न्यूज गिनी का विमान हादसे का शिकार हो गया. हालांकि विमान में सवार सभी पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स को बचा लिया गया है. आपको बता दें कि एयरपोर्ट पर लैंडिंग से करीब 150 गज की दूरी से पहले ही विमान को समुद्र में उतारना पड़ा.

  •  UN में एमैनुएल मैक्रों राफेल डील पर कहा- सौदे पर हस्ताक्षर मेरे शासन में नहीं हुए

    UN में एमैनुएल मैक्रों राफेल डील पर कहा- सौदे पर हस्ताक्षर मेरे शासन में नहीं हुए

    फ्रांस के प्रेसिडेंट एमैनुएल मैक्रों ने कहा है कि राफेल करार सरकार से सरकार के बीच तय हुआ था और भारत एवं फ्रांस के मध्य 36 लड़ाकू विमानों को लेकर जब अरबों डॉलर का यह करार हुआ, उस वक्त वह सत्ता में नहीं थे. संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र के इतर एक प्रेस कांफ्रेंस में मैक्रों से पूछा गया था कि क्या भारत सरकार ने किसी वक्त फ्रांस या फ्रांस की दिग्गज एयरोस्पेस कंपनी दसाल्ट से कहा था कि उन्हें राफेल करार के लिए भारतीय साझेदार के तौर पर रिलायंस को चुनना है. इससे पहले पूर्व फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने दावा किया था कि राफेल करार में भारतीय कंपनी का चयन नई दिल्ली के इशारे पर किया गया था.

Page 1 of 125