कॉमनवेल्थ गेम्स: भारत के अनीश स्वर्ण जीतने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने

 कॉमनवेल्थ गेम्स: 15 साल के अनीष ने शूटिंग में गोल्ड जीत रचा इतिहास, तेजस्विनी का भी 'सुनहरा' निशाना

शुक्रवार को भी गोल्ड कोस्ट में चल रहे कॉमनवेल्थ खेल में इंडिया का सुनहरा सफर जारी है. तेजस्विनी सावंत के बाद शूटिंग में ही इंडिया को आज अनीष भानवाला ने दूसरा गोल्ड मेडल दिलाया. महज पंद्रह साल के अनीष ने रिकॉर्ड प्रदर्शन करते हुए पच्चीस मीटर रैपिड फायर पिस्टल में कॉमनवेल्थ गेम्स का पुराना रिकॉर्ड ध्वस्त कर डाला. यह भारत का 16वां गोल्ड मेडल है. इसके साथ ही वो कॉमनवेल्थ में गोल्ड जीतने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय बन गए.

अब टूर्नामेंट के 9वें दिन भारत के कुल पदकों की संख्या 34 हो गई है. सोलह स्वर्ण पदकों के साथ भारत के खाते में आठ सिल्वर और 10 ब्रॉन्ज मेडल हैं. इसके साथ ही भारत ने 2014 ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड तोड़ डाला, वहां भारतीय दल ने पंद्रह गोल्ड जीते थे, हालांकि भारतीय खिलाड़ियों के शानदार खेल को देखते हुए गोल्ड मेडल्स का आंकड़ा और बढ़ने की पूरी उम्मीद है.

इसके पहले महिलाओं की 50 मीटर रायफल थ्री पोजिशन में इंडिया की तेजस्विनी सावंत ने गोल्ड पर निशाना लगाया तो अंजुम मुदगिल को सिल्वर मेडल मिला. तेजस्विनी ने कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड बनाते हुए कुल 457.9 पॉइंट्स हासिल किए. ये इस बड़े टूर्नामेंट में 37 वर्ष की तेजस्विनी का दूसरा मेडल है, इसके पहले उन्होंने वीरवार को भी महिलाओं की पचास मीटर राइफल प्रोन स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता था.

loading...