अधिक मास में करें श्रीकृष्ण की पूजा, पूरी हो सकती है मनोकामना, बस इस तरह के संकल्प

 पुरुषोत्तम मास : करें संकल्प लेकर श्रीकृष्ण की पूजा, होगी हर मनोकामना पूरी

अब कुछ ही दिनों में पुरुषोत्तम मास खत्म हो जाएगा. ऐसे में अगर आप अपनी मनोकामना पूरी करना चाहते हैं तो करें इस तरह से भगवान श्रीकृष्ण की पूजा. 13 जून, बुधवार को ज्येष्ठ का अधिक मास समाप्त हो जाएगा. इसके बाद अधिक मास 3 साल बाद यानी 2021 में आएगा. 

हिन्दू ग्रंथों के अनुसार, ये महीना भगवान श्रीकृष्ण को अति प्रिय है. कहा जाता है इस महीने में भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करने से किसी की भी इच्छा पूरी हो सकती है. इसी बाबत इस महीने को पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है. अधिक मास के 8 दिन ही शेष बचे हैं. इन दिनों में अगर भगवान श्रीकृष्ण की पूजा पूरी श्रृद्धा से की जाए तो हर मनोकामना पूरी हो सकती है. 

किस तरह करें संकल्प: आपको सबसे पहले संकल्प लेना होगा. किसी विशेष मनोकामना के पूरी होने की इच्छा से किए जाने वाले पूजन में संकल्प की जरूरत होती है. संकल्प करने के लिए सबसे पहले हाथों को साफ करलें. अब हाथ में जल, फूल व चावल लें. सकंल्प में जिस दिन पूजन कर रहे हैं, उस वर्ष, उस वार, तिथि उस जगह और अपने नाम को लेकर अपनी इच्छा बोलें. अब हाथों में लिए गए जल को जमीन पर छोड़ दें. इस तरह संकल्प लेकर पूजा करने से आपकी हर इच्छा पूरी हो सकती है.

जानते हैं किस तरह करें भगवान की पूजा:

सबसे पहले भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति को स्वच्छ जल से स्नान करवाएं. इसके बाद पंचामृत से अभिषेक करें और फिर से साफ पानी से स्नान करवाएं. उसके बाद भगवान श्रीकृष्ण को पीले रेशमी वस्त्र अर्पित करें. पीले फूल अर्पित करें. चंदन से तिलक करें और ये मंत्र बोलें- ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय नमः. इसके बाद माखन-मिश्री का प्रसाद चढ़ाएं. फल या मिठाई का भोग भी लगा सकते हैं. शुद्ध घी का दीपक लगाएं और आरती करें.

यकीं मानिए इस तरह पूजा करने से और मन में सच्ची श्रद्धा रखने से आपकी हर मनोकामना पूरी हो सकती है.

loading...