माँ बनने के दौरान न खाएं Painkiller

 Painkiller : गर्भावस्था में न करें इस्तेमाल

आपको पता है, प्रेग्नेंसी के दौरान दर्द की दवाएं नहीं लेनी चाहिए. इससे आपके होने वाले बच्चे की सेहत पर असर पड़ता है. प्रेग्नेंसी के समय दर्द की दवाएं खाने से प्रेग्नेंसी पर क्या असर होता है?

इस समय दर्द की दवाएं लेने वाली मां के गर्भ में पल रहे बच्चे की फर्टिलिटी पर प्रभाव होता है. यानी मां अगर पेनकिलर खाती है तो इसकी आशंका बढ़ जाएगी कि गर्भ में पल रहे बच्चे को भविष्य में कोई संतान ना हो. दर्द की दवाएं नवजात के डीएनए पर असर डालती हैं.

इस दौरान पैरासिटामोल लेना सबसे ज़्यादा हानिकारक है. इस वक्त Ibuprofen से दूर रहने को कहा जाता है. पैरासिटामोल जैसी दवाओं के कारण बच्चे में विकलांगता आने का खतरा भी बढ़ जाता है. दूसरी ओर महिलाओं में जल्दी मेनोपॉज का खतरा भी रहता है. ये दवाएं अंडाशय के सभी अंडों का उत्पादन जल्दी-जल्दी करती हैं. एक समय आता है जब अंडाशय खाली हो जाता है और कम उम्र में ही मेनोपॉज हो जाता है.

loading...