तनाव के कारण जा सकती है समय से पहले आपकी जान

 बिना वजह का तनाव कहीं छीन ले न ले आपकी जान

क्या आप जानते हैं जो तनाव आप लेते हैं उससे आपके जीवन को जीने की क्षमता कम हो जाती है. एक सर्वे में आया है कि नौकरी और काम से संबंधित तनाव जीवन के लिए हानिकारक हो सकता है. काम के बोझ से जो तनाव होता है, वो समय पूर्व मृत्यु का 68 प्रतिशत जोखिम बढ़ा देता है. नौकरी के तनाव से शरीर की आंतरिक प्रणालियों में बाधा उत्प्न्न6 होती है. इससे दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है. तनावग्रस्त श्रमिक अस्वास्थ्यकर भोजन, अल्कोहल और धूम्रपान अपना लेते हैं, मगर व्यायाम छोड़ देते हैं. यह सभी चीजें हृदय रोगों से जुड़ी हुई हैं. इन चीजों से हृदय गति में परिवर्तन बढ़ता है और दिल कमजोर होता जाता है. साथ ही कोर्टिसोल का स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है’.

स्टडी के मुताबिक, वयस्कों में काम का तनाव सेहत से जुड़ी कई परेशानियों को जन्म देता है. कार्यस्थल का कुछ तनाव तो सामान्य होता है, पर ज्यादा तनाव आपकी उत्पादकता और प्रदर्शन दोनों को ही प्रभावित कर सकता है. यह आपके शारीरिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है. आपके रिश्तों व घरेलू जीवन को प्रभावित कर सकता है. यह नौकरी में सफलता और विफलता के बीच अंतर भी पैदा कर सकता है.

कैसे बचा जाएँ: अच्छे संबंध बनाएं और जब आप महसूस करें कि कोई काम हाथ से बाहर हो रहा है तो अपने सहयोगियों को आत्मविश्वास में लें. एक बेहतरीन नाश्ते से अपना दिन शुरू करें. यह न केवल आपको ध्यान केंद्रित करने में मदद करेगा, बल्कि यह भी सुनिश्चित करेगा कि आप तनाव से दूर रहें. पर्याप्त नींद लें और अपने सोने के समय में काम न करें. सुनिश्चित करें कि आप हर दिन एक ही समय में सोएं. हर दिन लगभग 30 मिनट शारीरिक व्यायाम करें. अपने काम को प्राथमिकता दें और व्यवस्थित करें’.

क्या होते हैं लक्षण: काम के अत्यधिक तनाव के संकेतों व लक्षणों में चिंता, चिड़चिड़ाहट, अवसाद, रुचि की कमी, अनिद्रा, अन्य नींद विकार, थकान, ध्यान देने में परेशानी, मांसपेशियों में तनाव या सिरदर्द, पेट की समस्याएं, मिलने-जुलने में अरुचि, सेक्स ड्राइव कम होना और नशे की प्रवृत्ति बढ़ना प्रमुख है.

loading...