तेज़ी से होगी आबादी कंट्रोल, जब पुरुष करेंगे गर्भ निरोधक का इस्तेमाल

 परुष शुक्राणु की गतिशीलता को कम करने के लिए बनाई गयी है गर्भ निरोधक दवा

इसे कहते हैं बदलाव. अब पुरुष भी करेंगे आबादी कण्ट्रोल में सहायता. जानकारी के मुताबिक़ कि जिस तरह से महिलाओं की गर्भ निरोधक दवा बाज़ार में मिलती है वैसे ही अब पुरुषों के दवा भी आने वाली है. 

जरूरी बात इस दवा का कोई नुक्सान नहीं है. ईपी055 नामक यह फार्मूला शुक्राणु की गतिशीलता को शिथिल कर देता है, परन्तु इससे हार्मोन पर कोई असर नहीं पड़ता. इसका इस्तेमाल करके पुरुषों के लिए भी अब निरोध की गोली बनाई जा सकती है, जो आबादी नियंत्रण के लिए कारगर उपाय साबित हो सकती है.

शोधकर्ताओं ने ऐसे यौगिक की खोज की है जो शुक्राणु की गतिशीलता पर नियंत्रण रख सकता है. यह निषेचन की क्षमता को कम कर सकता है. ईपी055 नामक यह यौगिक शुक्राणु की गतिशीलता को शिथिल कर देता है और इससे हार्मोन पर भी कोई असर नहीं होता है.

परीक्षण के तौर पर इसका उपयोग नर बंदरों पर किया गया, जिसमें कोई दुष्प्रभाव नहीं पाया गया. 

एक शोध में दावा किया गया है कि इससे ‘पुरुष-गोली’ बनाई जा सकती है, जो जन्म दर को नियंत्रित करने में कारगर साबित होगा और इसका कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होगा. 

loading...