•  घोषणा के अगले दिन शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स-निफ्टी लाल, 500 से ज्यादा अंकों की गिरावट

    घोषणा के अगले दिन शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स-निफ्टी लाल, 500 से ज्यादा अंकों की गिरावट

    केंद्र सरकार ने अपने कार्यकाल का अंतिम बजट पेश कर दिया है, लेकिन इसका सकारात्मक असर शेयर बाजार पर नहीं दिखा है। दूसरे दिन का बाजार खुलते ही सेंसेक्स में गिरावट का दौर लगातार जारी है। फिलहाल ये करीब 500 अंकों की गिरावट पर चल रहा है और स्तर 35,413 है। इससे पहले सेंसेक्स 300 अंकों की गिरावट से साथ खुला।

  •  बजट भाषण में बोले वित्त मंत्री अरुण जेटली, देश में नहीं चलेगा बिटकॉइन

    बजट भाषण में बोले वित्त मंत्री अरुण जेटली, देश में नहीं चलेगा बिटकॉइन

    अरुण जेटली के बजट पर पूरा देश टकटकी लगाए देख रहा था। पिछले दिनों देश की अर्थव्यवस्था में जो कुछ बदलाव हुआ था, उम्मीद थी कि सरकार उनको लेकर बड़ा कदम उठाएगी। हाल ही देश में बिटकॉइन को लेकर खूब चर्चा हुई। रिपोर्ट्स में सामने आया कि क्रिप्टो करंसी के नाम पर बड़ी मात्रा में काले धन को खपाया जा रहा है। जिस पर सरकार ने पहले भी साफ किया था इस तरह की करेंसी भारत में कानूनी तौर पर मान्य नहीं है। 

  •  Union Budget 2018: बजट में जेटली ने दिया तोहफा, दो रुपए प्रति लीटर सस्‍ता हुआ पेट्रोल-डीजल

    Union Budget 2018: बजट में जेटली ने दिया तोहफा, दो रुपए प्रति लीटर सस्‍ता हुआ पेट्रोल-डीजल

    आम बजट 2018-19 की घोषणा करते हुए वित्तमंत्री ने पेट्रोल डीजल पर उपभोक्ताओं को बड़ी राहत दी है. सरकार ने इस बजट में पेट्रोल डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने का फैसला किया है, जिससे पेट्रोल-डीजल कीमतों में 2 रुपए तक की कमी आई है. सरकार ने पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 2 रुपये घटकर 4.48 रुपये प्रति लीटर कर दी है. वहीं, डीजल पर एक्साइज ड्यूटी 2 रुपये घटकर 6.33 रुपये प्रति लीटर कर दी गई है.

  •  Budget 2018-19 : कृषि के लिए 11 लाख करोड़ कर्ज का ऐलान

    Budget 2018-19 : कृषि के लिए 11 लाख करोड़ कर्ज का ऐलान

    एनडीए सरकार के कार्यकाल के आखिरी बजट में सरकार ने समाज के सभी पक्षों पर ध्यान देने की पहल की है. वित्त मंत्री की घोषणा से ऐसा ही प्रतीत हो रहा है. किसान, छात्र, स्वास्थ्य, महिलाओं, गरीबों को बजट में लाभ पहुंचाने की कोशिश की गई है. फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली ने 2018-19 के लिए केंद्रीय बजट पेश कर दिया है. गरीब वर्ग के लिए स्वास्थ्य सेवाओं, बिजली, कृषि से जुड़े हुए हैं.

  •  बजट 2018 : वित्त मंत्री के सामने हैं ये बड़े चैलेंज

    बजट 2018 : वित्त मंत्री के सामने हैं ये बड़े चैलेंज

    आम बजट 2018 के लिए आपको बस 1 दिन का और वेट करना है. आपको आम बजट से जितनी उम्‍मीदें है मोदी सरकार के लिए भी यह बजट भी उतना ही खास है. अगले वर्ष यानी 2019 में आम चुनाव है. आम जनता को सौगात और संदेश देने के लिए सरकार के पास आखिरी मौका है. देश के लोगों कर खास कर युवाओ, किसानों, टैक्‍सपेयर्स और इंडस्‍ट्री को बजट से बड़ी उम्‍मीदें हैं. ऐसे में हम आपको बता रहे है कि आपकी उम्‍मीदें किस तरह से मोदी सरकार के लिए बड़ी चुनौती बन गईं हैं और अर्थव्‍यवस्‍था में सबकी उम्‍मीदों को पूरा करने कितनी क्षमता है. 

Page 6 of 61