विजय माल्या का ऐलान- जगह और तारीख बताएं, खुद सौंप दूंगा संपत्ति

 माल्या ने पूछा 'वक्त, तारीख और जगह', कहा- खुद आकर दूंगा संपत्ति, कोई छू नहीं सकता

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने कहा है कि ब्रिटेन में उसके पास सिर्फ कुछ कारें और थोड़ी ज्वेलरी है। वह इसे कभी भी जांच एजेंसियों को सौंपने को तैयार है। माल्या ने एक इंटरव्यू में कहा, "मैं इग्लैंड का निवासी हूं। इसलिए मैं वापस लौटकर यहीं आया। मैं नहीं जानता कि लोग मुझे भगोड़ा क्यों कह रहे हैं। इसके पीछे राजनीति है। इस साल भारत में चुनाव हैं। सरकार मुझे भारत लाकर चुनावी फायदा लेना चाहती है।"

माल्या के खिलाफ भारत में प्रवर्तन निदेशालय जांच कर रहा है। वहीं, ब्रिटेन की अदालत में भी उसके खिलाफ केस चल रहा है। ब्रिटिश कोर्ट ने हाल ही में अदालत के प्रवर्तन अफसरों को माल्या के परिसरों में जाने और जब्ती करने की इजाजत दी है। माल्या का ताजा बयान इसी के संदर्भ में आया है।

माल्या ने रविवार को न्यूज एजेंसी रायटर्स से कहा, "मैं अपनी ब्रिटेन स्थित संपत्तियों की जानकारी पहले ही कोर्ट को दे चुका हूं। इन्हें सीज करने के लिए भारतीय जांच एजेंसियों को घर पर आने की जरूरत नहीं है। मुझे जगह, समय और तारीख बता दें। मैं उन्हें खुद ही आकर सब सौंप दूंगा। कोर्ट के आदेश के मुताबिक, केवल मेरी संपत्तियां ही जब्त की जा सकती हैं, इसलिए जांच एजेंसियां लंदन में स्थित मेरे बेटे और मां के घर को छू भी नहीं सकतीं।" ब्रिटिश अदालत में माल्या के खिलाफ केस की सुनवाई 31 जुलाई को पूरी होनी है। सितंबर में इस पर फैसला भी आ सकता है।

एसबीआई के नेतृत्व में 13 बैंकों के कंजोर्शियम ने माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस को लोन दिया था। 31 जनवरी 2014 तक माल्या पर बैंकों के 6,963 करोड़ रुपए बकाया थे। 2016 तक ये राशि करीब 9,000 करोड़ हो गई। कर्ज चुकाने का दबाव बढ़ा तो मार्च 2016 में माल्या विदेश भाग गया। भारत में माल्या पर मनी लॉन्ड्रिंग का भी केस चल रहा है। बैंकों का कंजोर्शियम माल्या से 965 करोड़ रुपए की रिकवरी कर चुका है।

loading...