तूफान से तबाह हुई 40 फीसदी आम की फसल; चुकाने पड़ेंगे ज्यादा दाम

तूफान के असर से आम भी पस्त, बर्बाद हुई करीब 40 फीसदी फसल

आंधी-तूफ़ान से जान-माल का ही नुकसान नहीं हुआ अपितु इस बार आम की फसल पर भी प्रभाव पड़ा है. बिगड़े मौसम के चलते लगभग 40 प्रतिशत आम की फसल फसल ख़राब हो गयी है.

ये तूफान ऐसे समय में आए हैं जब आम बाजार में दस्तक देने के लिए लगभग तैयार हैं. किसानों और आम के व्यापारियों का कहना है पिछले दो तूफानों में आम की करीब 40 फीसदी फसल बर्बाद हुई है. रविवार शाम आंधी के साथ गिरे ओलों के कारण भारी मात्रा में आम पेड़ों से गिर गए हैं. अब ये आम सिर्फ अचार बनाने के काम आयेंगे. 

मलिहाबाद का आम देश ही नहीं दुनिया भर में खासी तौर पर पसंद किये जाते हैं और यहां के किसानों की आय का यह मुख्य जरिया है. इसके लिए यहां के किसान साल भर कड़ी मेहनत करते हैं. आंधी और ओलों ने फसल चौपट करदी. अब ये आम सिर्फ अचार बनाने के काम में ही इस्तेमाल कर सकते हैं. इस नुकसान की भरपाई के लिए यहां के किसान सरकार से मदद की उम्मीद लगाए हुए हैं.

बाग मालिक और ठेकेदार इस संबंध में जल्द ही मुख्यमंत्री से मुलाकात करने की योजना बना रहे हैं. वहीं, कृषि विभाग नुकसान का आंकलन करने में जुट गया है.  

अब इस बार नुकसान का बोझ आम के चाहने वालो पर भी पड़ेगा. उन्हें आम का स्वाद चखने के लिए सामान्य से ज्यादा कीमत चुकानी पड़ सकती है.

loading...