SHOCKING! इस गांव में 70 साल की उम्र में भी जवान दिखती हैं महिलाएं

 इस गांव में 70 साल की उम्र में भी जवान दिखती हैं महिलाएं

आज को दौर में अगर कोई व्यक्ति 55-60 साल का हो जाए तो उसे बूढ़ा मानने लगते हैं. उसके चेहरे की झुर्रियां, झुकी कद-काठी और मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन इस बात की गवाही देते हैं. लगभग भारत का ही एक कोना ऐसा है जहां के लोग 75-80 वर्ष के भी हो जाएं तो बूढ़े नहीं लगते. यहां रहने वाली महिलाएं 65 वर्ष की उम्र में भी गर्भवती हो सकती हैं.

पाक अधिकृत कश्मीर में गिलगित-बाल्टिस्तान के पहाड़ों के बीच बसे गांव में हुंजा जनजाति के लोग रहते हैं. इनकी औसत उम्र 110 से 120 साल की होती है. कुछ लोग तो 150 साल तक जीते हैं. यहां रहने वाले लोग 70 साल की उम्र में भी 20 वर्ष के नौजवान जैसे दिखते हैं. वहीं पुरुष 90 साल की उम्र में भी पिता बन सकते हैं.

इनकी यह खासियत उस समय चर्चा में आई जब इसी समुदाय के सईद अब्दुल मोबुदु को देख लंदन में इमिग्रेशन ऑफिसर धोखा खा गए. पूछताछ के दौरान जब इस व्यक्ति ने बताया कि उसका जन्म 1832 में हुआ तो उसका चेहरा और शरीर देख यकीन करना कठिन हो गया कि वह इतना युवा कैसे दिख सकता है.

इनकी लंबी उम्र का मुख्य कारण है सेहतमंद जीवनशैली. यहां रहने वाले लोग वही खाना खाते हैं जो स्वयं उगाते हैं. हुंजा जनजाति के लोग खुबानी और धूप में सुखाए अखरोट खूब खाते हैं. अनाज में ये जौ, बाजरा और कुट्टु खाते हैं. ये केवल 2 वक्त का खाना खाते हैं.

बताया जाता है कि हुंजा जनजाति के लोग सिकंदर के अग्रज हैं. दुनिया जीतने निकला सिंकदर जब भारत फतह करने पहुंचा तो उसके साथ आए कुछ लोग यही रह गए. ये अपने समुदाय में ही शादी करते हैं.

loading...