दोस्तों के साथ मिलकर किया पत्नी और साली से गैंगरेप, पकड़े जाने के डर से दोनों का मर्डर कर दिया

दोस्तों के साथ मिलकर किया पत्नी और साली से गैंगरेप, पकड़े जाने के डर से दोनों का मर्डर कर दिया

दो महीने पहले पति के साथ ससुराल के लिए निकली लड़की और उसकी बहन की हत्या के रहस्य से पर्दा उठ गया है। हत्या उसके पति ने ही की थी। हत्या करने से पहले पति ने अपने छह दोस्तों के साथ मिलकर पत्नी और साली के साथ रास्ते में गैंगरेप भी किया था। पुलिस ने जब पति पर दबाव बनाया तो उसने कोर्ट में सरेंडर कर दिया और पूरी कहानी बताई। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने दोनों बहनों का शव मुल्क डांढ़ नदी से बरामद कर लिया है।

16 जुलाई को मुंगेर जिले के गोविंदपुर गांव की एक लड़की की शादी श्रीरामपुर गांव के गौरव यादव के साथ हुई थी। 6 सितंबर को गौरव अपने छह दोस्तों के साथ ससुराल गया और पत्नी के साथ साली को भी अपने घर ले जाने की बात कहकर निकल पड़ा। दोनों को घर ले जाने के बजाय रास्ते में उसने अपने दोस्तों के साथ दोनों बहनों से गैंगरेप किया। फिर दोनों की हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपियों ने बॉडी बोरे में बंद करके फेंक दी। पुलिस के मुताबिक, आरोपी को पत्नी के नाजायज रिश्ते की बात पता चल गई थी। इसके चलते ही उसने साजिश रची।

 दूसरे दिन जब गौरव की सास ने अपनी बेटी के मोबाइल पर बात करने की कोशिश की, तो बात नहीं हो पाई। उसने दामाद गौरव से पूछा तो जवाब मिला कि दोनों बहनों को ऑटो में बैठा कर वापस मायके भेज दिया है। जबकि दोनों बेटियां अपने घर नहीं पहुंचीं। काफी खोजबीन के बाद जब दोनों बेटियों का पता नहीं लगा तो गौरव की सास ने 9 सितंबर को गौरव के खिलाफ नामजद केस दर्ज कराया।

पुलिस ने मुख्य आरोपी गौरव की मां कृष्णा को भी अरेस्ट कर लिया। इसके बाद पुलिस की लगातार दबिश के कारण गौरव ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। रिमांड पर लेकर पुलिस ने उससे पूछताछ की। पूछताछ में उसने कई अहम जानकारियां दीं, जिसके आधार पर उसके दोस्त और हत्या के केस के सह आरोपी कृष्णजीत यादव को अरेस्ट किया गया। कृष्णजीत की बताई जगह पर पुलिस पहुंची, जहां दो लड़कियों की बॉडी मिली।

loading...