भारत के इस मंदिर में होती है बिना सूंड वाले गणेशजी की पूजा

 भारत के सिर्फ इस मंदिर में होती है बिना सूंड वाले गणेशजी की पूजा

सिटी के नाहरगढ़ पहाड़ी पर स्थित गणेश जी के बाल रूप को देखकर यहां आने वाला प्रत्येक भक्त मंत्रमुग्ध हो जाता है. बिना सूंड वाले गणेश जी को देखकर लोग हैरान भी हो जाते हैं. देश में ये एक मात्र ऐसा टेम्पल है जहां बिना सूंड वाले गणेश जी की प्रतिमा है. गणेश जी का यह प्राचीन टेम्पल राजस्थान की राजधानी जयपुर में है. यह मंदिर गढ़ गणेश के नाम से विख्यात है. गणेश जी के आशीर्वाद से ही जयपुर की नींव रखी गई थी.

नाहरगढ़ की पहाड़ी पर महाराजा सवाई जयसिंह ने अश्वमेघ यज्ञ करवा कर गणेश जी के बाल स्वरूप वाली इस प्रतिमा की विधिवत स्थापना करवाई थी.

इसके बाद जयपुर की नींव रखी गई थी. मंदिर के पास खड़े होकर देखने से पूरा जयपुर का विहंगम दृश्य दिखाई देता है.

यह मंदिर रियासत कालीन है और करीब 350 साल पुराना है. टेम्पल में मूर्ति की तस्वीर लेना प्रतिबंधित है.

टेम्पल में गणपति को इस प्रकार प्रतिष्ठित किया गया है कि सिटी पैलेस के इंद्र महल से वे दूरबीन से साफ दिखाई देते हैं. कहते हैं इंद्र महल से महाराजा दूरबीन से भगवान के दर्शन किया करते थे.

loading...