मुजफ्फरपुर हादसा: BJP ने आरोपी नेता मनोज बैठा को किया पार्टी से बाहर, तेजस्वी ने पूछा- कहां गई नीतीश की अंतरात्मा

 मुजफ्फरपुर हादसा: मनोज बैठा बीजेपी से सस्पेंड लेकिन पुलिस गिरफ्त से बाहर

मुजफ्फरपुर जिले में भाजपा नेता की गाड़ी से हुए हादसे में नौ बच्चों की मौत को लेकर बिहार की राजनीति गर्मा गई है. इस मामले में विपक्ष के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि इस घटना को लेकर अब तक न तो सीएम नीतीश कुमार और न ही उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने जुबान नहीं खोली है. न ही इन दोनों नेताओं ने इस पर खेद जताया है. उन्होंने कहा कि सरकार इस पूरे मामले को दबाना चाहती है. उन्होंने सीएम पर तंज कसते हुए पूछा है कि अब ‘कहां गई नीतीश जी की अंतरात्मा?’ तेजस्वी ने कहा कि अब तक भाजपा नेता मनोज बैठा को क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया. ऐसी खबरें फैलाई गईं कि उसने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है. लेकिन हमें इस बारे में कुछ जानकारी नहीं मिल रही है. केवल प्रशासन ही यह बता सकता है कि उसने सरेंडर किया या फिर उसे गिरफ्तार किया गया या फिर वह नेपाल भाग गया.

इससे पहले भाजपा ने हादसे में आरोपी वाहन मालिक और भाजपा नेता मनोज बैठा पर एक्शन लेते हुए उसे पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से छह साल के लिए निलंबित कर दिया है. बता दें कि बीते शनिवार को मुजफ्फरपुर के मीनापुर थाना क्षेत्र में स्कूल के सामने छुट्टी के बाद घर जा रहे छात्र एक तेज रफ्तार बोलेरो की चपेट में आ गए थे. इसमें 9 छात्रों की मौत हो गई थी जबकि 24 छात्र घायल हुए थे. मीनापुर के थाना प्रभारी सोना प्रसाद सिंह ने सोमवार को बताया था कि अब तक जांच में यह स्पष्ट हुआ है कि जब यह हादसा हुआ था, तब बोलेरो खुद भाजपा नेता मनोज बैठा चला रहा था. आरोपी फिलहाल फरार है.

भाजपा नेता आरोपी मनोज बैठा की गिरफ्तारी की सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है. हालांकि अभी तक पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है. सोशल मीडिया पर चर्चा के मुताबिक मनोज बैठा को सोनबरसा थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार पासवान लेकर मुजफ्फरपुर गए हैं. हालांकि, सीतामढ़ी के एसपी हरि प्रसाद एस तथा मुजफ्फरपुर के एसएसपी विवेक कुमार ने गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की है.

मालूम हो कि शनिवार को मीनापुर के धरमपुर में उत्क्रमित मध्य विद्यालय के डेढ़ दर्जन बच्चों को तेज गति से आ रही बोलेरो ने रौंद दिया था. इसमें नौ बच्चों की मौत हो गई थी, जबकि 10 अन्य घायल हो गए थे. घटना ने पूरे राज्य में सनसनी फैला दी. मामले में दर्ज प्राथमिकी में भाजपा नेता मनोज बैठा को आरोपित बनाया गया था. बोलेरो भी उसकी है. हादसे के समय भी बोलेरो उसके द्वारा ही चलाए जाने की बात कही जा रही है. आरोपित के भाजपा नेता होने के कारण मामले ने विपक्ष को मुद्दा दे दिया. इस कारण पुलिस पर उसकी गिरफ्तारी का दबाव बढ़ गया है.

loading...