सीएम नीतीश ने तेजस्वी से कहा- बाबू सुनो, कुछ सीखो, राजनीति का करियर लम्बा है

 नीतीश को तेजस्वी से क्यों कहना पड़ा; सुनो बाबू, अभी राजनीति में लंबा करियर है...

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उनके गंभीर स्वभाव के लिए जाना जाता है. ऐसा कम ही होता है जब नीतीश कुमार विधानसभा में चल रहे वाद-विवाद के दौरान किए गए तंज का जवाब दें. लेकिन सोमवार को विधानसभा मेें राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने कुछ ऐसा कह दिया कि नीतीश खुद पर काबू नहीं रख पाए और आपना आपा खो दिया.

दरअसल, राम नवमी के दिन औरंगाबाद में हुई सांप्रदायिक हिंसा को लेकर चर्चा चल रही थी. कुछ देर में ही चर्चा तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार के बीच आरोप-प्रत्यारोप में बदल गई. औरंगाबाद में सांप्रदायिक तनाव को नियंत्रित करने के लिए आरजेडी नेता तेजस्वी ने निष्क्रियता का आरोप लगाते हुए सरकार को घेरना शुरू कर दिया.

तेजवस्वी के हमलावर तेवर को देखकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरजेडी का कच्चा चिट्ठा खोलकर सामने रख दिया. औरंगाबाद में हुई घटना पर सफाई देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राम नवमी शांतिपूर्वक बीत गई है. हां, इसमें कुछ अपवाद भी दिखे, लेकिन स्थिति नियंत्रित है. इसके बाद नीतीश ने तेजस्वी से कहा, ‘सुनो बाबू, राजनीति में तुम्हारा बहुत लंबा करियर है अभी, इसलिए तुम्हें कुछ सीखने की जरूरत है’. नीतीश यहीं नहीं रुके. उन्होंने तेजस्वी के बगल में बैठे अब्दुल बारी सिद्धीकी से कहा कि इन्हें कोई राजनीति की आधारभूत चीजें क्यों नहीं समझाता?

बता दें कि पिता लालू प्रसाद यादव के जेल जाने के बाद तेजस्वी यादव ने पिता की अनुपस्थिति में पार्टी की कमान संभाल ली है. पिछले साल ही नीतीश कुमार राजेडी और कांग्रेस से अलग होकर भाजपा के साथ सरकार बना ली. इसके बाद तेजस्वी लगातार अलग-अलग मुद्दों पर मुख्यमंत्री को घेरने की कोशिश करते रहे हैं.

इसके पहले राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू यादव के बेटे और राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव बिहार सरकार पर उनके खिलाफ साजिश रचने का आरोप भी लगा चुके हैं.

loading...