लखनऊ: जरा सी गलती पर टीचर ने बच्चे को 50 थप्पड़ मारे, “यैस मैडम” ना बोलने की मिली सजा

विडियो:  लखनऊ: यैस मैडम नहीं कहा तो गई मैडम, 2 मिनट में जड़ दिए 50 थप्पड़

राजधानी के उतरेठिया इलाके में सेंट जॉन विएनी स्कूल में एक टीचर ने 7 साल के बच्चे को बुरी तरह पीटा. इस वारदात का वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में दिख रहा है कि टीचर ने 2 मिनट के अंदर छोटे से बच्चे को 50 से ज्यादा थप्पड़ मारे. बच्चे की गलती बस इतनी थी कि अटेंडेंस के समय वो ठीक से यस मैम नहीं बोल पाया था. शिकायत मिलने पर स्कूल ने टीचर को निकाल दिया है. पुलिस ने भी शिकायत दर्ज कर ली है.

अध्यापक रितिका पर आरोप है कि 3rd क्लास का स्टूडेंट जब यस मैम नहीं बोल पाया तो उसने बच्चे को थप्पड़ मारे. उसका फेस नोंच लिया और उसका सिर ब्लैकबोर्ड से टकरा दिया. टीचर का ये तरीका स्कूल के सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गया. बच्चा घर पहुंचकर रोने लगा और मां पिता से शिकायत की.

बच्चे के शिकायत के बाद सीसीटीवी की जांच हुई. वीडियो में दिखाई दिया कि बच्चे की पिटाई से दूसरे बच्चे डर गए और अपना सिर नीचे की तरफ छिपा लिया. पिटाई के बाद जब बच्चा गिर गया तो अध्यापक कक्षा से चली गई.

स्कूल प्रशासन ने एक्शन लिया
जॉन विएनी स्कूल के प्रिंसिपल फादर रोनाल्ड रोड्रीजफ ने कहा, पैरेंट्स ने जब इस मामले में शिकायत की तब तक टीचर स्कूल से जा चुकी थी. प्रिंसिपल ने महिला अध्यापक रितिका को स्कूल से निकाल दिया है. उसके खिलाफ जांच के लिए एक कमेटी का भी गठन कर दिया है. रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

स्कूल जाने से डर रहा है बच्चा
पैरेंट्स का कहना है कि बच्चे के पिटाई के बाद वो बुरी तरह डर गया है और स्कूल जाने को तैयार नहीं हो रहा है. टीचर के खिलाफ पीजीआई थाने में तहरीर दी गई है.

पीजीआई थाने के एसओ बृजेश राय के मुताबिक, पैरेंट्स की तरफ से बुधवार को जान विएनी स्कूल की अध्यापक रितिका के खिलाफ शिकायत दी गई है. टीचर के खिलाफ मिली शिकायत पर जांच शुरू कर दी गई है.

loading...