शरद यादव का विवादित बयानः बेटी की इज्जत से बढ़कर है वोट की कीमत

शरद यादव का विवादित बयानः बेटी की इज्जत से बढ़कर है वोट की कीमत

जनता दल यूनाइटेड के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने एक विवादित बयान दिया है । नेताजी ने कहा कि वोट की कीमत बेटी की इज्जत से बढ़कर है। उनका ये बयान बालिका दिवस के अवसर पर आया। दरअसल शरद यादव एक कार्यक्रम में बोलते हुए गिरते राजनीतिक स्‍तर और वोट खरीदने की कोशिशों पर चिंता जता रहे थे। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि अगर बेटी की इज्‍जत चली गई तो मोहल्‍ले और गांव की ही इज्‍जत जाएगी, लेकिन कहीं वोट बिक गया तो देश की इज्‍जत चली जाएगी।

यादव ने आगे कहा कि देश में वोट को लेकर बड़े पैमाने पर सब जगह समझाने की जरूरत है। बेटी की इज्‍जत से वोट की इज्‍जत बड़ी है। हालांकि उनकी पार्टी जदयू यूपी में पैसे की कमी के चलते चुनाव नहीं लड़ रही है लेकिन उन्‍होंने वोट खरीदने की राजनीति पर चिंता जताई। इस दौरान उन्‍होंने यह भी दावा किया कि किसी नेता को सांसद या विधायक बनने के लिए करोड़ों रुपए खर्च करने पड़ते हैं।शरद यादव ने इस बात को लेकर भी काफी चिंता जताई कि पैसे के आभाव की वजह से उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश का चुनाव लड़ने में असमर्थ नजर आ रही है।

जदयू नेता ने कहा, ‘मैंने लंबे अंतराल तक पार्टी को चलाया है, लेकिन ऐसे हालात पहले कभी सामने नहीं आए, जहां संसाधन की कमी की वजह से चुनाव लड़ने में दिक्कत आ रही है । वोटों की खरीद-फरोख्त चल रही है। खासकर दक्षिण भारत में जहां सांसद बनने के लिए 25 से 30 करोड़ रुपये खर्च किए जाते हैं। वहीं विधायक बनने की कीमत 5 से 10 करोड़ रुपये है।’ शरद यह सब बातें जननायक कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर पटना में पार्टी के एक कार्यक्रम में कह रहे थे।

loading...