ब्लैक बक शिकार मामला : 5 अप्रैल को आ सकता है फैसला, आरोपी सलमान समेत सभी की सुनवाई हुई पूरी, हो सकती है 6 साल की सजा

 काले हिरण के शिकार मामले में जोधपुर कोर्ट 5 अप्रैल को सुनायेगा अपना फैसला, सलमान सहित सभी की सुनवाई हुई पूरी

20 साल पुराने काला हिरण शिकार काण्ड में सलमान खान सहित सभी की सुनवाई बुधवार को पूरी हो गयी है. अब जोधपुर कोर्ट 5 अप्रैल को अपना निर्णय सुनाएगी. सलमान के साथ-साथ इसमें सैफ अली खान, नीलम, तब्बू और सोनाली बेंद्रे भी आरोपी हैं. मामले की सुनवाई मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देवकुमार खत्री की है.

कब किया गया था शिकार?
1998 में सलमान फिल्म 'हम साथ-साथ हैं' के लिए जोधपुर में थे. उनके साथ फिल्म के दूसरे कलाकार भी थे. आरोप है कि सलमान ने घोड़ा फार्म हाउस और भवाद गांव में 27-28 सितंबर की रात हिरणों के शिकार किया. कांकाणी गांव में 1 अक्टूबर को काले हिरणों के शिकार करने का आरोप है. 1998 शूटिंग के दौरान सलमान पर 4 केस दर्ज हुए. तीन केस हिरणों के शिकार और चौथा केस आर्म्स एक्ट का था. गिरफ्तारी के दौरान सलमान कमरे से पुलिस ने पिस्टल और राइफल बरामद की थी. इन हथियारों की लाइसेंस अवधि खत्म हो चुकी थी.

कांकाणी गांव केस को छोड़कर बाकी तीनों मामलो में सलमान खान बरी हो गये हैं और राज्य सरकारों सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की है. 

बात करें कांकाणी गांव केस की तो गवाहों ने बताया कि जोधपुर से सटे कांकाणी गांव की सीमा पर एक अक्टूबर 1998 की रात सलमान ने दो काले हिरणों का शिकार किया. गवाहों के मुताबिक, "सैफ अली, नीलम, सोनाली व तब्बू भी उसके साथ वाहन में सवार थे. इन लोगों ने सलमान को शिकार के लिए उकसाया का आरोप है. गोली की आवाज सुन ग्रामीण वहां एकत्र हो गए. ग्रामीणों के आने पर सलमान खान वहां से गाड़ी लेकर चले गए और दोनों हिरण वहीं पड़े थे."

आपको बाते दें, वाइल्ड लाइफ एक्ट की धारा 149 के अंतर्गत काला हिरण का शिकार करने पर सात साल के अधिकतम कारावास की सजा का प्रावधान है.चूंकि ये मामला 20 साल पुराना है तो सलमान खान को अधिकतम सजा 6 साल की हो सकती है. यही सजा बाकी आरोपियों पर भी लागू होगी. 

loading...