रिलांयस कम्युनिकेशन में 52,000 से घटकर सिर्फ 34,00 रह गए कर्मचारी

 इस मशहूर कंपनी में 52,000 से घटकर सिर्फ 34,00 रह गए कर्मचारी

रिलांयस कम्युनिकेशन कंपनी इन दिनों भारी कर्ज में डूबी है, हालात इतने खराब हो चुके हैं कि कंपनी ने अपने लगभग 94 फीसदी कर्मचारियों को हटा दिया है. अब कंपनी में कर्मचारियों की संख्या सिर्फ 3,400 रह गई है जबकि एक समय ऐसा था कि रिलांयस कम्युनिकेशन में 52 हजार कर्मचारी काम करते थे.

बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में रिलांयस कम्युनिकेशन कंपनी ने कह कि, ”आरकॉम समूह में कर्मचारियों की कुल संख्या उच्चतम स्तर 52,000 से घटकर 3,400 पर आ गई है, कर्मचारियों की कुल संख्या में 94 प्रतिशत की कमी आई है.’

वर्ष 2008 से 2010 के बीच कंपनी अपने शिखर पर थी. 45 हजार करोड़ रुपए के कर्ज तले दबी रिलांयस कम्युनिकेशन ने इस साल जनवरी से अपना मोबाइल सेवा का कारोबार बंद कर दिया था, फिलहाल कंपनी सिर्फ बिजनेस टू बिजनेस (बी 2 बी) स्तर पर ही दूरसंचार सेवाएं दे रही है. कंपनी का मानना है कि बी 2 बी इकाई उद्योग में मौजूदा टैरिफ में उतनी प्रतिस्पर्धा नहीं है.

आरकॉम ने कहा, ‘एयरटेल, आइडिया, वोडाफोन और टेलिकॉम के क्षेत्र में आई नई कंपनी रिलायंस जियो के बीच शुल्क में कटौती की होड़ से वायरलेस क्षेत्र में वित्तीय लेखाजोखा प्रभावित हुआ है. अब जब 18 जनवरी को आरकॉम बी2सी (बिजनस टू कंज्यूमर) सेवा से बाहर हो गई है, ऐसे में कंपनी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा.’

loading...