खफा पाकिस्तान ने उठाया कदम, अमेरिका के साथ मिलिट्री-खुफिया सहयोग खत्म करने का ऐलान

बौखलाया पाकिस्तान: US की धमकी से भड़के PAK ने मिलिट्री-खुफिया सहयोग खत्म करने का किया ऐलान

अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को दी जाने वाली करीब सात हजार करोड़ रुपए की मिलिट्री एड रोके जाने के बाद पाकिस्तान ने भी 7 दिन बाद उसे जवाब दिया है। पाकिस्तान ने अमेरिका को दी जाने वाली सभी तरह की मिलिट्री और खुफिया मदद रोकने का एलान किया है। खास बात ये है कि पाकिस्तान ने अभी अमेरिका को लैंड और एयर एक्सेस रोकने पर कोई फैसला नहीं किया है। ये इसलिए अहम हो जाता है क्योंकि अफगानिस्तान में मौजूद अमेरिकी ट्रूप्स को रसद जमीन और आसमान के जरिए ही पहुंचाई जाती है। पाकिस्तान की तरफ से पहली धमकी इन्हीं दो रास्तों को बंद करने की दी गई थी। दूसरी तरफ, अमेरिका ने कहा है कि उसे पाकिस्तान ने ऐसे किसी फैसले की जानकारी नहीं दी है।

पाकिस्तान के डिफेंस मिनिस्टर खुर्रम दस्तगीर खान ने मंगलवार रात अमेरिका को मदद रोके जाने के फैसले का एलान किया। अमेरिका ने 2 जनवरी को पाकिस्तान को दी जाने वाली 7 हजार करोड़ रुपए की मिलिट्री एड रोकने का फैसला किया था। दस्तगीर ने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद से निपटने में काफी कुर्बानियां दीं। अमेरिका ने इन्हें ध्यान में नहीं रखा। खान ने कहा- अब पाकिस्तान अमेरिका को दी जाने वाली मिलिट्री और इंटेलिजेंस एड पर रोक लगा रहा है। - खान ने कहा- अमेरिका को हम लैंड और एयर पैसेज जारी रखेंगे। इस बारे में कोई फैसला जरूरत होने पर ही किया जाएगा।

इसके पहले, मंगलवार को अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA के चीफ माइक पॉम्पियो ने पाकिस्तान को सीधी वॉर्निंग दी। पॉम्पियो ने कहा- प्रेसिडेंट ट्रम्प साफ कह चुके हैं कि पाकिस्तान में आतंकी पनाहगाहें अब किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएंगी। हम साफ कर देना चाहते हैं कि पाकिस्तान आतंकवाद पर अब फुल स्टॉप लगा दे। अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर हम अमेरिका को अपने तरीके से महफूज करने करेंगे।

इस्लामाबाद में अमेरिकी एम्बेसी के स्पोक्सपर्सन रिचर्ड नेल्सर ने पाकिस्तान के फैसले पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। मीडिया द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में रिचर्ड ने कहा- पाकिस्तान की तरफ से हमें अब तक ऐसे किसी भी फैसले की जानकारी नहीं दी गई है।

loading...