बिहार विधान परिषद चुनाव: सीएम नीतीश कुमार के साथ सुशील मोदी मैदान में

 बिहार विधान परिषद चुनाव: सीएम नीतीश कुमार के साथ सुशील मोदी मैदान में

बिहार विधान परिषद चुनाव के लिए नामांकन भरने का सोमवार को आखिरी दिन है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और सुशील मोदी ने विधानसभा में पर्चा दाखिल किया। नीतीश और सुशील मोदी समेत सभी 11 उम्मीदवारों को जीतना तय है। सिर्फ औपचारिक घोषणा बाकी रहेगी। जदयू ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा रामेश्वर महतो और खालिद अनवर को प्रत्याशी बनाया है। वहीं भाजपा ने उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और पूर्व केन्द्रीय मंत्री संजय पासवान, जबकि कांग्रेस ने प्रेमचंद्र मिश्रा को उम्मीदवार बनाया है। राजद पहले ही पूर्व सीएम राबड़ी देवी, रामचन्द्र पूर्वे और सैयद खुर्शीद मोहसिन को प्रत्याशी बनाने और हम के संतोष मांझी को समर्थन की घोषणा कर चुका है। जदयू के मौजूदा एमएलसी संजय सिंह, चंदेश्वर चंद्रवंशी, उपेंद्र प्रसाद, राजकिशोर कुशवाहा का पत्ता साफ हो गया है।

विधान परिषद चुनाव में जीत के लिए न्यूनतम 21 वोटों की दरकार है। राजद की एक सीट खाली होगी, लेकिन उसे चार सीटें मिलेंगी। जदयू की छह सीट खाली होगी, लेकिन उसे तीन सीट मिलेगी। भाजपा की चार सीट खाली होने के बावजूद उसे केवल तीन सीट ही मिलेगी। तीसरी सीट पर उसे जदयू और निर्दलीय उम्मीदवारों की सहायता लेनी होगी।

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और आरजेडी के दो अन्य नेता 26 अप्रैल को होने वाले विधान परिषद् चुनावों के लिए नामांकन कर चुके हैं। आरजेडी उपाध्यक्ष राबड़ी देवी ने अपने बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव और अन्य नेताओं की मौजूदगी में नामांकन पत्र दाखिल किया था। आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे और वरिष्ठ नेता खुर्शीद मोहसिन भी नामांकन दाखिल कर चुके हैं। पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी के बेटे संतोष मांझी भी पर्चा दाखिल कर चुके हैं।

loading...