स्टॉकहोम पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी का स्वीडिश पीएम ने किया स्वागत

 मोदी स्वीडन पहुंचे, हुआ शानदार स्वागत, भारतीय मूल के लोगों से मिले

स्‍वीडन और ब्रिटेन के पांच दिवसीय दौरे के पहले चरण में PM नरेंद्र मोदी सोमवार देर रात राजधानी स्‍टॉकहोम पहुंच गए, जहां स्वीडन के पीएम स्टेफान लोफवेन ने प्रोटोकॉल तोड़ एयरपोर्ट पर उनकी अगवानी की. पीएम मोदी भारतीय समुदाय के लोगों से भी मिले, जिन्‍होंने उत्‍साहपूर्वक उनका स्‍वागत किया. PM रात में जब स्‍वीडन पहुंचे तो उनसे मिलने और उन्‍हें एक नजर देखने के लिए इंडियन कम्युनिटी के सैकड़ों लोगों की भीड़ थी. 

पीएम मोदी ने भी उन्‍हें निराश नहीं किया और पास जाकर उनका अभिवादन स्‍वीकार किया. उन्‍होंने कई लोगों से हाथ भी मिलाए. पीएम मोदी की स्वीडन यात्रा इस मायने में ऐतिहासिक है कि 30 साल के बाद कोई भारतीय प्रधानमंत्री इस देश की यात्रा पर है. यहां उनका काफी व्यस्त कार्यक्रम है. 

पीएम मोदी मंगलवार को अपने स्विडिश समकक्ष लोफवेन के साथ नवाचार एवं प्रद्यौगिकी से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करेंगे. स्वीडन भी PM मोदी की इस यात्रा को काफी महत्व दे रहा है. इसी के मद्देनजर स्वीडन के प्रधानमंत्री प्रोटोकॉल तोड़ते हुए भारतीय प्रधानमंत्री की अगवानी के लिए खुद एयरपोर्ट पहुंचे. विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर बताया कि प्रधानमंत्री मोदी और उनके स्विडिश समकक्ष लोफवेन एक ही गाड़ी से एयरपोर्ट से होटल के लिए रवाना हुए.

प्रधानमंत्री मोदी इस यात्रा के दौरान इंडिया और स्‍वीडन के बीच व्यापार और निवेश सहित कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत बनाने पर जोर देंगे. इस दौरान दोनों देशों के मध्य कई द्विपक्षीय समझौते होने की उम्‍मीद है. पीएम मोदी मंगलवार को पहले इंडिया-नोर्डिक शिखर सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेंगे. स्‍वीडन, नॉर्वे, फिनलैंड, डेनमार्क और आइसलैंड देशों को सामूहिक रूप से नोर्डिक देश कहा जाता है. इस दृष्टिकोण से भारत के लिए यह बड़ा मौका है कि क्षेत्र के पांच देशों की सरकारों के प्रमुखों के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठक होगी. इसके बाद आज ही वह ब्रिटेन के लिए रवाना हो जाएंगे, जहां वह राष्‍ट्रमंडल देशों के प्रमुखों की एक मीटिंग में शामिल होंगे. लंदन में उनकी ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे से द्विपक्षीय मुलाकात भी होगी.

बता दें कि पीएम मोदी की 16 अप्रैल से शुरू हुई स्‍वीडन और ब्रिटेन की यात्रा 21 अप्रैल को समाप्‍त होगी. 

loading...