बीती रात भी जारी रहा दिल्ली-NCR में आंधी-तूफान का कहर

 नहीं टला आंधी-तूफान का खतरा, दिल्ली-NCR समेत कई राज्यों में अभी भी सतर्कता की ज़रूरत

उत्तर भारत में आंधी-तूफान ने अपने पैर पसार दिए हैं. बीती रात राजधानी दिल्ली पूरी तरह धूल की चादर से ढक गई. मौसम विभाग के अनुसार बीती रात करीब 70 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चली. रात करीब 11.00 बजे बारिश शुरू हुई और इसके बाद आंधी ने पूरे दिल्ली-एनसीआर को अपनी चपेट में ले लिया. देर रात बारिश के साथ आए तूफान ने लोगों की नींद उड़ा दी. तेज हवाओं का सिलसिला मंगलवार की सुबह भी जारी रहा. जिससे लोग सहमे-सहमे दिखे. 

राजस्थान और हरियाणा में आए तेज तूफान से लोग अपने घरों में बंद हो गए हैं. राजस्थान के कई हिस्सों में तेज हवा के साथ रेत की परते उड़ती दिखाई दीं. धूल भरी तेज आंधी ने झुंझुनूं और सीकर को भी अपनी चपेट में ले लिया जिसकी वजह से कई इलाकों में बिजली सप्लाई बाधित हुई है. और कई जगह पर पेड़ और खंभे गिरने की भी खबरें हैं.   

सोमवार रात करीब सवा बजे बिजली कड़कने की जोरदार आवाज से घरों में सो रहे लोगों की नींद खुली तो बाहर तेज हवाओं के साथ ही बारिश हो रही थी. वहीं कई जगह दुकानों पर लगे बोर्ड और सड़कों पर लगे होर्डिंग्स टूटने की सूचना आई तो कई जगह पेड़ टूटकर गिरने की भी खबरें आईं. 

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा के कई इलाकों में आंधी आने के बाद बिजली कटौती की खबर आई है. हालांकि इस आंधी-तूफान से अभी तक किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं है. 

मंगलवार को मेट्रो ट्रेनों की रफ्तार 70-90 किलोमीटर प्रतिघंटे की बजाय 40 किलोमीटर प्रतिघंटे ही रहेगी. एलिवेटेड ट्रैक पर चलने वाली मेट्रो की रफ्तार तो और धीमी रहेगी, क्योंकि यहां वैसे ही हवा की रफ्तार तेज होती है. इसे लेकर डीएमआरसी ने दिल्ली-एनसीआर में चलने वाली ट्रेनों को निर्देश जारी कर दिए हैं. एलिवेटेड ट्रैक पर मेट्रो ट्रेन महज 15 किमी प्रतिघंटे की स्पीड से चलेंगी. यह भी निर्देश जारी किया गया है कि जहां मेट्रो अंडरग्राउंड से एलिवेटेड ट्रैक पर प्रवेश करती है, वहां भी ट्रेन की रफ्तार काफी कम रहेगी. आंधी-तूफान की चेतावनी पर डीएमआरसी भी अलर्ट है. तूफान को देखते हुए मेट्रो प्रबंधन ने भी सावधानी के तौर पर स्पीड नियंत्रण करने को कहा है. 

loading...