मैरी कॉम ने दिलाई एक और सुनहरी कामयाबी, एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में गोल्ड जीता

 Asian Boxing Championship: मैरी कॉम ने फिर लहराया परचम, 5वीं बार जीता गोल्ड

भारतीय मुक्केबाजी की ‘वंडर गर्ल’ एम सी मेरीकॉम ( 48 किलो ) ने एशियाई मुक्केबाजी में पांचवीं बार स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया. पांच बार की विश्व चैम्पियन और ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मेरीकॉम ने उत्तर कोरिया की किम ह्यांग मि को 5-0 से हराया.

यह 2014 एशियाई खेलों के बाद मेरीकाम का पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक है और एक साल में उनका पहला पदक है. 35 साल की मेरीकॉम का सामना मि के रूप में सबसे आक्रामक प्रतिद्वंद्वी से था लेकिन वह इस चुनौती के लिये तैयार थी. अब तक पहले तीन मिनट एक दूसरे को आंकने में जाते रहे थे लेकिन इस मुकाबले में शुरूआती पलों से ही खेल आक्रामक रहा. 

मेरीकॉम ने अपनी प्रतिद्वंद्वी के हर वार का माकूल जवाब दिया. दोनों ओर से तेज पंच लगाये गए. मेरीकाम उसके किसी भी वार से विचलित नहीं हुई और पूरे सब्र के साथ खेलते हुए जीत दर्ज की.

राज्यसभा सांसद, ओलंपिक कांस्य पदक विजेता 35 बरस की मैरी कॉम पांच साल तक 51 किलो में भाग लेने के बाद 48 किलोवर्ग में लौटी थीं. मैरी कॉम ने सेमीफाइनल में जापान की सुबासा कोमुरा को 5 . 0 से हराया था. वह छह में से पांचवीं बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थीं.

loading...