105 साल के लिए जेल गया स्पाइडर मैन

 OMG! 105 साल के लिए जेल गया स्पाइडर मैन

स्पाइडर मैन बनकर बच्चों के हॉस्पिटल की सफाई करने वाले एक शख्स ने बच्चों के साथ ऐसा घिनौना काम किया कि कोर्ट ने उसे इसके लिए 105 साल की सजा सुना दी. इस व्यक्ति की घिनौनी करतूत के बारे में जानकर आपको भी हैरानी होगी. शायद इसलिए कोर्ट ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इस व्यक्ति के प्रति जरा भी दया नहीं बरती और उसे कड़ी सजा सुना दी.

जानकारी के मुताबिक , यह शख्स स्पाइडर मैन बनकर बच्चों का अश्लील वीडियो बनाता था फिर उन वीडियोज को वह ऑनलाइन बेच देता था. व्यक्ति पर लगे सभी आरोप कोर्ट ने सही पाए, जिसके बाद उसे यह सजा दी गई है. रिपोर्ट की मानें तो अमेरिका के नैशविले में रहने वाला 36 वर्षीय जराट टर्नर बच्चों की पोर्नोग्राफी करने और आपत्तिजनक वीडियोज बेचने का दोषी पाया गया है.

टर्नर ने कई वीडियोज इंटरनेट पर अपलोड किए और लिखा कि मुझे बच्चे सबसे ज्यादा प्यारे लगते हैं और उम्मीद है कि आपको भी ये वीडियो देखने के बाद इन पर प्यार आएगा. यह व्यक्ति की मानसिकता को दर्शाता है कि किस कदर वह छोटे बच्चों को देखता था. 

बता दें, टर्नर 2014 में उस समय सुर्खियों में आया था जब उसने पहली बार स्पाइडर मैन की ड्रेस पहनकर अस्पताल के कांच साफ किए थे. इसके बाद उसे नैशविले का स्पाइडर मैन कहा जाने लगा था. मगर फिर चाइल्ड पोर्नोग्राफी में पकड़े जाने पर उसे उम्र से भी ज्यादा यानी 105 वर्ष की जेल के साथ-साथ 31 हजार डॉलर यानी करीब 20 लाख रुपये का हर्जाना पीड़ित बच्चों को देने के लिए कहा गया.

टर्नर ने अपने घर की बेसमेंट में एक 10 वर्ष की लड़की और 12 वर्ष के लड़के का वीडियो बनाया. इस दौरान टर्नर ने बच्चों के साथ छेड़छाड़ भी की. बाद में उसने पोर्न वीडियोज इंटरनेट पर वायरल कर दिए थे. इसी के जरिए टर्नर को पकड़ा गया है. टर्नर ने पुलिस से बचने के लिए सारे जुगाड़ तैयार कर रखे थे.

बताया जाता है कि वह आईपी एड्रेस ट्रैक न हो पाने के लिए वाईफाई का इस्तेमाल करता है. जब भी वह वीडियो अपलोड करता था तो पब्लिक वाई-फाई का इस्तेमाल करता था. ऐसे में उसे ट्रैक करने में पुलिस को दिक्कतों का सामना करना पड़ता, मगर आखिरकार उसे उसकी मेल आई-डी से पकड़ लिया गया. 

loading...