जज लोया केस: झूठी याचिका के पीछे राहुल गांधी का हाथ, माफी मांगें: भाजपा; कांग्रेस ने बताया दुखद

 जज लोया केस: झूठी याचिका के पीछे राहुल गांधी का हाथ, माफी मांगें: भाजपा; कांग्रेस ने बताया दुखद

गुरुवार को जज लोया केस मामले में सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय पर कांग्रेस पार्टी ने असंतोष जताया है. कांग्रेस प्रवक्ता आर एस सुरजेवाला ने कोर्ट के इस निर्णय को भारतीय इतिहास में सबसे दुखद निर्णय बताया है. सुरजेवाला ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय का यह फैसला अपने पीछे कई सवाल के छोड़ गया है. उन्होंने कहा कि जज लोया के पोस्टमॉर्टम में भी कई विसंगतियां सामने आईं थीं उन्होंने कहा कि पीड़ित के नाम को भी सही तरीके से पेश नहीं किया गया.
  
वहीं, इससे पहले बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है. भाजपा ने कोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि राजनीतिक मकसद से याचिका दायर की गई थी और इस याचिका के पीछे अदृश्य हाथ था. झूठी याचिका के पीछे राहुल गांधी थे. 
 
भाजपा ने कहा कि अमित शाह पर कांग्रेस ने अभद्र टिप्पणी की. कांग्रेस न्यायपालिका को सड़क पर लेकर आई. राहुल गांधी को इन सब बातों के लिए क्षमा मांगना चाहिए. इस मामले पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी इशारे इशारे में कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा और कहा कि बीजेपी के बड़े नेता की छवि बिगाड़ने की कोशिश पूरी तरह से नाकाम हो गई है. अब यह साफ हो गया है कि न्यायपालिक राजनीतिक लड़ाई का अखाड़ा नहीं बन सकती है. 

वहीं, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया है. उन्होंने कहा है कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय ने कांग्रेस को फिर बेनकाब कर दिया है. राहुल गांधी को देशवासियों ने मांफी मांगनी चाहिए. योगी ने कहा कि राहुल गांधी ने पूरे देश में गवर्नमेंट के खिलाफ नकारात्मक माहौल बनाने की कोशिश की है. सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का हम स्वागत करते हैं.

आपको बता दें कि जज लोया की मृत्यु स्वाभाविक थी या उनकी हत्या की गई थी इसकी निष्पक्ष जांच की मांग को सर्वोच्च न्यायालय ने खारिज कर दी है. कोर्ट ने कहा कि एसआईटी से जांच नहीं कराई जाएगी, साथ ही कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं को लताड़ते हुए यह भी कहा कि इससे पहले जज लोया मामले में जजों के फैसलों पर शक नहीं किया जा सकता है. यह याचिका जजों की छवि को खराब करने की कोशिश है. तीन जजों की बेंच ने कहा कि जनहित याचिकाएं जरूरी है लेकिन इसका दुरुपयोग चिंताजनक है.

loading...