चंदा कोचर छोड़ेंगी बैंक के CEO का पद?

 चंदा कोचर छोड़ेंगी बैंक के CEO का पद!, बोर्ड ले सकता है जल्द फैसला

निजी सेक्टर के दूसरे सबसे बड़े बैंक ICICI की CEO चंदा कोचर की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. बैंक के बोर्ड में शामिल कुछ निदेशक शीघ्र ही मिलकर कोचर के भविष्य का फैसला करेंगे. 

चंदा कोचर के पति दीपक कोचर और वीडियोकॉन समूह में व्यापारिक डील हुई थी. इस डील के बाद बैंक से वीडियोकॉन ग्रुप को लोन दिया गया है. इस केस में CBI ने प्राथमिक जांच आरंभ कर दी है.

CBI इस मामले को लेकर के चंदा कोचर के देवर से भी लागातार तीन दिन तक पूछताछ कर चुकी है. हालांकि बोर्ड ने कहा है कि वो इस मामले में पूरी तरह से कोचर के साथ है और यह उन पर निर्भर करेगा कि वो इस पद पर बनी रहेंगी या नहीं.

बैंक का बोर्ड इस सप्ताह मीटिंग करेगा. इस मीटिंग में स्वतंत्र और नॉमिनेट निदेशक भी शामिल होंगे. इस बैठक को इसलिए बुलाया जाएगा, ताकि स्टॉफ और निवेशकों का बैंक में विश्वास बना रहे. 28 मार्च और दो अप्रैल को जो बैठक हुई थी, उसमें कई निदेशक शामिल नहीं हुए थे और न ही इसकी जानकारी पहले से स्टॉक एक्सचेंज को दी गई थी. 

CBI ने रविवार को ICICI बैंक की सीईओ चंदा कोचर के पति दीपक कोचर की कंपनी न्यूपॉवर रिन्यूएबल्स के निदेशक उमानाथ वैकुंठ नायक से पूछताछ की. नायक से CBI ने यह पूछताछ आईसीआईसीआई बैंक की ओर से 2012 में वीडियोकॉन ग्रुप को दिए गए 3250 करोड़ रुपये के सिलसिले में की है. 

CBI इस मामले में पहले ही चंदा कोचर के देवर राजीव कोचर और वीडियोकॉन ग्रुप के प्रमोटर वेणुगोपाल धूत के नजदीकी महेश चंद्र पुंगलिया से पूछताछ कर चुकी है. लेकिन न्यूपावर रिन्यूएबल्स के किसी वरिष्ठ अधिकारी को पूछताछ के लिए पहली बार बुलाया गया है.

एक वरिष्ठ सीबीआई अधिकारी ने बताया कि पुंगलिया भी न्यूपावर रिन्यूएबल्स में एक निदेशक हैं. तीनों को CBI के मुंबई स्थित बांद्रा कुर्ला कार्यालय में बुलाया गया. केंद्रीय जांच एजेंसी ने वीडियोकॉन के मालिक वेणुगोपाल धूत और चंदा कोचर के पति खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया.
 

loading...