श्रीलंका: साम्प्रदायिक हिंसा के बाद 10 दिनों का आपातकाल, भारत-श्रीलंका मैच पर नहीं पड़ेगा कोई असर

 श्रीलंका: साम्प्रदायिक हिंसा के बाद 10 दिनों का आपातकाल, भारत-श्रीलंका मैच पर नहीं पड़ेगा कोई असर

श्रीलंका सरकार ने कैंडी में भड़के सांप्रदायिक दंगों के बाद मंगलवार को देशभर में इमरजेंसी लगा दी। सरकार का कहना है कि इमरजेंसी लगाने का मकसद हिंसा फैलाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करना है। श्रीलंकाई मीडिया के मुताबिक, ये फैसला सोमवार को कैंडी के हालात का जायजा लेने के बाद लिया गया। बता दें कि भारतीय टीम निदाहास ट्रॉफी ट्राई सीरीज खेलने के लिए श्रीलंका में ही मौजूद है। आज शाम को सीरीज का पहला मैच कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में खेला जाएगा।

भारतीय टीम के खिलाड़ी भी कोलंबो में मौजूद है। ऐतिहातन उनकी सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है। कोलंबो में खेले जाने वाले मैच पर आपातकाल का कोई असर नहीं पड़ेगा। बीसीसीआई ने इस बाबत ट्वीट करते हुए जानकारी दी है कि संबंधित अधिकारियों से बात की जा चुकी है। कोलंबो में हालात काबू हैं इसलिए मैच पर कोई असर नहीं पड़ेगा। 

श्रीलंका के कैंडी में पिछले कई दिनों से सांप्रदायिक हिंसा के चलते लगातार हालात बिगड़ते जा रहे थे। इसको देखते हुए सरकार ने सोमवार को यहां के स्थानीय इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया था। पुलिस के मुताबिक, हिंसा में एक बौद्ध धर्म के शख्स की मौत हो गई थी, जबकि कई मुस्लिम व्यापारियों की दुकानों में आग लगा दी गई थी। श्रीलंका में पहले भी धार्मिक हिंसा की कई घटनाएं हो चुकी हैं। बता दें कि देश में मुस्लिमों की आबादी सिर्फ 10% है, जबकि बौद्ध सिंहला की आबादी करीब 75% है।

loading...