सरकार द्वारा उठाये गये स्वच्छता की ओर कदम, फायदा नही मिल पा रहा मंगलापुरी के लोगों को

वीडियो :  दिल्ली में महिलाओं का खुले में शौच जाना बन रहा है राहगीरों के लिए समस्या

एक तरफ सरकार शौचालय को लेकर काफी जागरूकता फैला रही है, दूसरी तरफ आप इस वीडियो में देख सकते है की कैसे महिलाओं को करना पड़ रहा है खुले में शौच, हम बात कर रहें है. मंगलापुरी इलाके की जहाँ पर महिलाओं के लिए कोई टॉयलेट सुविधा नही है. एक तरफ अक्षय की टॉयलेट पिक्चर लोगों को जागरूक कर रही है क्या यह जागरूकता सिर्फ लोगों को रिझाने के लिए है या फिर हकीकत? लेकिन आप इस वीडियो में देख सकते हैं की यह जागरूकता सिर्फ नाम की है, महिलाओं  को जाना पड़ रहा है खुले में शौच.

कई महिलाओं ने इस समस्या का समाधान निकालने की कोशिशे भी की और जगह-जगह भटकती रहीं कभी नगरपार्षद तो कभी कहीं, लेकिन सभी का एक ही उत्तर आया की हम कुछ नही कर सकते, कभी कहते की यह डी.डी.ऐ की जगह है. तो कभी कहते यह फलाना की जगह है ऐसे में महिलाएं निराश नही होंगी तो क्या होंगी? ऐसे में उनका सरकार से विशवास उठ चूका हैं उनका.

आपको हम बता दे की, औरतों को किन-किन समस्याओ का सामना करना पड़ता हैं पहला तो उन्हें खुले में शोच करना पड़ता है. दूसरा उन्हें फूटपाठ में नहाना पड़ता है वहां पर आते जाते आदमी उन्हें गन्दी नजरों से देखते हैं क्या यह पीड़ा हम सबके लिए दर्दनाक नहीं है अगर सब महिला एक साथ मिलकर आवाज़ भी उठाती है, तो उन्हें बस निराशा ही हाथ लगती है.

ऐसे में महिलाओं को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है आते-जाते उनसे बोलते हैं की तुम यहाँ खाली मैदान में शौच मत करो और पत्थर मारते हैं. बेचारी यहाँ नही करेगी तो कहाँ करेगी घर में कोई टॉयलेट नहीं. प्रशासन ने उन्हें कोई टॉयलेट नही दिया, अगर दिया भी है तो उनसे पब्लिक शौचालय में पैसे लिए जाते हैं.

दिल्ली से प्रीती सुन्द्रियाल की रिपोर्ट

loading...