विदाई देते हुए आजाद और रामगोपाल ने साधा निशाना, फिर मुस्कुराते रहे नरेश अग्रवाल

 राज्यसभा सांसदों की विदाई पर बोले गुलाम- नरेश अग्रवाल ऐसे सूरज हैं जो इधर डूबे-उधर निकले

बुधवार को राज्यसभा से रिटायर होने वाले सांसदों को विदाई देते समय कई हल्के-फुल्के तंज और हंसी के मौके भी देखने को मिले. राज्यसभा से विदा होने वाले सांसदों में नरेश अग्रवाल का भी नाम है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और सपा सदस्य प्रोफेसर रामगोपाल यादव सदस्यों को विदाई देते वक्त नरेश अग्रवाल पर चुटकी लेते हुए दिखाई दिए. आपको बता दें कि हाल में नरेश अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया था.

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने सदस्यों को विदाई देते हुए कहा कि राजनेता कभी रिटायर नहीं होता है. यह विदाई नहीं, जुदाई का मौका है. नरेश अग्रवाल पर भी चुटकी लेते हुए आजाद ने कहा कि हम नरेश अग्रवालजी को हमेशा याद रखेंगे. नरेश अग्रवालजी एक ऐसे सूरज हैं, इधर निकले, उधर डूबे, उधर डूबे, उधर निकले.

आजाद ने संसद के अंदर-बाहर अपने बयानों के लिए सुर्खियों में रहने वाले अग्रवाल पर भाजपा को नसीहत भी दे डाली. उन्होंने कहा कि मुझे पूरा यकीन है कि वह जिस पार्टी में गए हैं, वह उनकी क्षमता का और उनकी लैंग्वेज का जो पूरा योगदान रहा है, उसका अवश्य ख्याल रहेंगे. हालांकि आजाद ने कहा कि विपक्ष नरेश अग्रवाल को मिस भी करेगा, क्योंकि वह एक ऐसे सांसद रहे जो दिन में करीब छह बार बोलते थे. 

मजे की बात यह रही है कि ये सब सुनने के दौरान नरेश अग्रवाल मुस्कुराते भी दिखे. गुलाम नबी आजाद के बाद बारी प्रोफेसर रामगोपाल यादव की थी. हालांकि, उन्होंने नरेश अग्रवाल का नाम तो नहीं लिया, मगर इशारों में उनपर तंज कसने से नहीं चूके. सपा सदस्य रामगोपाल यादव ने कहा कि विदा ले रहे सदस्य जिस राजनीतिक दल में रहें निष्ठा से रहें. ऐसा करने पर पार्टी उन्हें इस सदन या उस सदन में लेकर आएगी और वह समाजसेवा का कार्य कर सकेंगे. जाहिर तौर पर रामगोपाल यादव नरेश अग्रवाल की ही निष्ठा पर निशाना साध रहे थे.
 

loading...