विडियो: मध्यप्रदेश में किसान ने की आत्महत्या, फसल ख़राब होने के चलते 95 हज़ार का था कर्ज

विडियो: मध्यप्रदेश में किसान ने की आत्महत्या, फसल ख़राब होने के चलते 95 हज़ार का था कर्ज

मध्य प्रदेश के जनपद छतरपुर के ग्राम चितहरी के 75 साल के महेश तिवारी ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बेटे के मुताबिक, उन्हें व उनके परिवार को पिछले वर्ष चना व गेहूं में घाटा लगा था. जिस वजह से काफी नुकसान हुआ था.

इसी नुक्सान के चलते उनके ऊपर 95 हजार रुपए का कर्ज हो गया था. जिसका तनाव उनके पिता को रहता था. साथ ही पिता लंबे समय से बीमार भी थे.
 
महेश का परिवार फसल बटाई पर लेते थे. उनके परिवार में किसी के भी नाम कोई खेती की जमीन नहीं है. वह कई सालों से बटाई पर खेत लिया करते थे और पिछले 2 वर्षों से छतरपुर में किराए के मकान में रहते थे. 

इस बारे में छतरपुर एसडीएम का भी मानना है कि मृतक के परिवार में किसी प्रकार की कोई खेती की जमीन नहीं थी. वह पिछले कई सालों से बटाई पर लेकर खेती करता था और पारिवारिक तनाव के चलते उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इसकी पूरी विस्तृत जांच कराई जा रही है.

छतरपुर जिले में हुई किसान मजदूर की आत्महत्या को लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं. लोगों का मानना भी है कि छतरपुर जिले में गेहूं व चना की फसल को किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ. किसान मजदूर जिस क्षेत्र में बता रहा है उस क्षेत्र में तो क्या पूरे जिले में किसी प्रकार के किसान को नुकसान नहीं हुआ है. महेश की मौत पर इस तरह के सवाल खड़े हो गये हैं. जांच के बाद ही असलियत बाहर आ सकेगी.

मध्य प्रदेश से अरविन्द कुमार मिश्रा की रिपोर्ट.

loading...