EPFO: अब 10 लाख रुपये से अधिक का क्लेम पर पलटा अपना यह पुराना नियम

 ईपीएफओ ने दी यह बड़ी राहत, अब 10 लाख रुपये से अधिक का क्लेम पर पलटा अपना यह पुराना नियम

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO ) ने अपने 5 करोड़ अंशधारकों को बड़ी राहत देते हुए क्लेम विथड्रॉल के लिए पहले से तय किए नियमों को पलट दिया है. शुक्रवार को ईपीएफओ ने 10 लाख रुपये से अधिक के क्लेम विथड्रॉल के लिए ऑनलआन क्लेम करने की बाध्यता को खत्म कर दिया है. अब कोई भी अंशधारक इसके क्लेम को ऑफलाइन भी कर सकेगा. इसके लिए सर्कुलर को भी जारी कर दिया गया है.  

EPFO के सर्कुलर के अनुसार, कई लोगों को ऑनलाइन क्लेम विथड्रॉल को करने में काफी परेशानी आ रही थी. ऐसे में नियम की फिर से समीक्षा की गई और पहले जारी किए गए नियमों में बदलाव किया गया है. अब सभी केस के लिए ऑफलाइन आवेदनों को भी स्वीकार किया जाएगा.  

हालांकि, क्लेम का वैरिफिकेशन पहले की तरह ऑनलाइन ही होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी अंशधारक के साथ धोखाधड़ी न हो. वैरिफिकेशन में कंपनी को तीन दिन के अंदर क्लेम को स्वीकार करने या फिर खारिज करने का हक होगा.

वहीं, इससे पहले 28 फरवरी को EPFO ने नया नियम जारी किया था. पहले वाले नियम के अनुसार दस लाख रुपये से ज्यादा की पीएफ निकालने के लिए ऑनलाइन आवेदन ही किया जा सकेगा. EPFO के मुताबिक, यह पेपरलेस होने की दिशा में अगला कदम था. ईपीएफओ ने कर्मचारी पेंशन योजना 1995 के तहत पांच लाख रुपये से ज्यादा के दावे के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया पहले ही अनिवार्य कर दी थी. अधिकारियों के मुताबिक केंद्रीय भविष्य निधि आयुक्त की अध्यक्षता वाली बैठक में सत्रह जनवरी को यह निर्णय लिया गया था. 

श्रम मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि डिजिटल इंडिया की ओर आगे बढ़ते हुए EPFO ने डिजिटल नोमिनेशन सुविधा की भी शुरुआत की है. यह सुविधा ईपीएफओ पोर्टल पर दर्ज सदस्यों को मिलेगी. उमंग या ‘यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन एक ऐसा एप है, जिसे सरकार ने सभी सरकारी सेवाओं को एक स्थान पर प्राप्त करने के लिए लांच किया है.
 

loading...