कॉमनवेल्थ गेम्स: नो निडिल पॉलिसी के तहत 2 भारतीय एथलीट दोषी करार, देश लौटने का आदेश

 कॉमनवेल्थ गेम्स: नो निडिल पॉलिसी के तहत 2 भारतीय एथलीट दोषी करार, देश लौटने का आदेश

शुक्रवार को कॉमनवेल्थ गेम्स में नियमों का उल्लंघन करने पर दो भारतीय एथलीट्स को वापस भेज दिया गया. सीडब्ल्यूजी फेडरेशन के अध्यक्ष लुइस मार्टिन ने बताया कि धावक केटी इरफान और ट्रिपल जंपर वी राकेश बाबू को गेम्स के लिए अयोग्य पाया गया है. इवेंट के बीच ही उन्हें भारत लौटने के लिए कहा है. उधर, भारतीय एथलेटिक्स महासंघ ने इसे शर्मनाक बताते हुए जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है.

जानकारी के अनुसार, इरफान और राकेश पर 'नो निडिल पॉलिसी' के उल्लंघन का आरोप है. गेम्स विलेज में दोनों के कमरों में निडिल्स मिली थीं. इस बारे में वे संबंधित अथॉरिटी के सामने संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए. फेडरेशन कोर्ट ने दोनों एथलीट के बयानों को संदिग्ध माना. इसके बाद वापस भेजने की कार्रवाई हुई.

नियमों के अनुसार, एथलीट्स को सीरिंज का प्रयोग करने की इजाजत नहीं है. किसी वजह से सीरिंज का उपयोग करना भी पड़े तो पहले मेडिकल कमीशन को बताना होता है या फिर प्रयोग के 24 घंटे पहले जानकारी देनी पड़ती है.

वहीं, दोनों खिलाड़ियों पर भारतीय एथलेटिक्स महासंघ की तरफ से भी कार्रवाई की जाएगी. फेडरेशन के सचिव सीके वाल्सन ने कहा है कि यह शर्मनाक घटना है. कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद इस मामले में शीघ्र जांच कर कार्रवाई करेंगे.

उधर, दोनों एथलीट ने स्वयं को निर्दोष बताया है. उनका कहना है कि इंडिया से रवाना होते वक्त लगेज की जांच नहीं कर पाने के कारण बैग में निडिल छूट गईं. कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान बैग में निडिल मिलने पर उन्होंने इसे कमरे में ही रख दिया क्योंकि निडिल को फेंकने की इजाजत नहीं थी.

loading...