बिहार रेप कांड: तीन बच्चों पर लगा POSCO के तहत चार्ज, तीनों की उम्र 10 से कम

बिहार रेप कांड: तीन बच्चों पर लगा POSCO के तहत चार्ज, तीनों की उम्र 10 से कम

इतनी छोटी उम्र में कोई रेप कैसे कर सकता है. लेकिन यह सच है, आप और हम यकीन नहीं करेंगे लेकिन इन बच्चों की माँ ने खुद बच्चों को सरेंडर किया. बिहार के सीवान कोर्ट में 6 से 9 साल की उम्र के तीन लड़के रेप का आरोप लगने के बाद कोर्ट में सरेंडर करने पहुंचे. वकील ने जज को केस समझाया. जज ने तीनों बच्चों को फिलहाल, बेल पर रिहा कर दिया है. रेप विक्टिम आरोपियों की कजिन है. तीनों पर पास्को एक्ट के तहत केस दर्ज है.

मामला सीवान जिले के मुस्तफाबाद का है. तीनों लड़कों पर हमउम्र कजिन ने रेप का आरोप लगाया. लड़की एक हफ्ते पहले मां के साथ केस दर्ज कराने गई थी. पुलिस ने पास्को एक्ट के तहत केस दर्ज किया. पुलिस आरोपियों के घर पहुंची. उस वक्त बच्चे घर के बाहर ही खेल रहे थे. पुलिस इन्हें पहचान नहीं सकी और लौट गई. लेकिन फैमिली को डर था कि पुलिस उन्हें परेशान करेगी. इसलिए शुक्रवार को बच्चों को कोर्ट में सरेंडर करा दिया.

वहीँ कोर्ट ने तीनों लड़कों को जमानत पर रिहा कर दिया है. आरोपी बच्चों के वकील मकसूद आलम ने कहा कि इतने छोटे बच्चे ऐसी गन्दी हरकत नहीं करते. उन्होंने कहा कि ‘बच्चों पर पुरानी रंजिश की वजह से उनकी आंटी ने बेटी से रेप का झूठा आरोप लगाया है. यह बच्चों को फंसाने की साजिश है. दोनों परिवार एक घर में रहते हैं. इनके बीच विवाद कई साल पुराना है.’

वहीँ इस बारे में महिला थाने की इंचार्ज पूनम कुमारी ने कहा कि ‘पीड़ित (रेप विक्टिम) मां के साथ थाने आई थी. उसने सारी बात बताईं थीं. उसके के बयान पर एफआईआर दर्ज की गई थी. फिलहाल मेडिकल रिपोर्ट की जानकारी नहीं है. एफआईआर देखने के बाद ही कुछ बता सकती हूं.’

अभी भी यकीं नहीं हो रहा है ये अपने आप बड़ा ही अनोखा मामला है. लेकिन इस तरह के मामलों पर यकीं करना मुश्किल नहीं नामुमकिन है. 

loading...